DA Image
29 फरवरी, 2020|3:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मदरसा परिषद की परीक्षाएं के लिए बने सचल दस्ते

default image

उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की सेकेण्ड्री मुंशी/मौलवी, सीनियर सेकेण्ड्री आलिम, कामिल और फाजिल परीक्षाओं को नकलविहीन कराने के लिए निदेशालय, जनपद, विद्यालय तथा परिषद की ओर से सचल दस्तों का गठन किया जाएगा। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव मनोज सिंह ने निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण, रजिस्ट्रार मदरसा शिक्षा परिषद के साथ ही सभी जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिये हैं।

प्रमुख सचिव मनोज सिंह ने बताया कि परीक्षा केन्द्र/विद्यालय स्तर पर आन्तरिक निरीक्षण दस्ते का गठन केन्द्र व्यवस्थापक करेंगे। आन्तरिक दस्ते में 3 सदस्य होंगे। जनपद स्तर पर सचल दल का गठन जिलाधिकारी करेंगे, जिसमें जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी और जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के नेतृत्व में 4 सदस्य और रखे जाएंगे।

छात्राओं के लिए महिला कक्ष निरीक्षक

छात्राओं के लिए बनाए गए परीक्षा केन्द्रों पर महिला कक्ष निरीक्षकों को तैनात किया जाएगा। छात्राओं की तलाशी सचल दल की महिला सदस्य ही ले सकेगी। परीक्षा केन्द्र में निरीक्षण दल/सचल दल के सदस्य और पर्यवेक्षक के रूप में योजित राजपत्रित अधिकारी ही प्रवेश कर सकेंगे। परीक्षा केन्द्र पर प्रश्न पत्रों की सुरक्षा के लिए 2 सशस्त्र गार्ड की तैनाती होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mobile Squad made for Madrasa Council examinations