DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोहसी बुजुर्ग गांव में ही बनेगा मेडिकल कालेज

मेडिकल कॉलेज रोहसी बुजुर्ग गांव में ही बनेगा। ग्रामीणों के तमाम विरोध के बावजूद जिला प्रशासन ने मेडिकल कालेज को रोहसी बुजुर्ग गांव में बनाए जाने को लेकर अपना प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। जिला कलेक्टर ने विशेष शक्तियों का प्रयोग करते हुए जमीन का प्रस्ताव शासन को भेज दिया है।
हालांकि ग्रामीणों को अभी इसकी भनक नहीं लगी है। ग्रामीण आबादी बचाने के लिए न्यायालय जाने की तैयारी में हैं। जिले में स्वास्थ सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए शासन ने मेडिकल कालेज की स्थापना का निर्णय लिया है। जिसके क्रम में जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर की परिधि में भूमि की मांग की गई थी। गौरीगंज तहसील प्रशासन ने रोहसी बुजुर्ग गांव में मेडिकल कालेज के लिए भूमि का चिन्हांकन किया था। लगभग 8 हेक्टेयर भूमि में से आधे से अधिक भूमि ग्राम पंचायत के नाम दर्ज है जबकि शेष भूमि पर ग्रामीण अपनी पुश्तैनी आबादी होने का दावा कर रहे हैं। इसी को लेकर ग्रामीण वहां मेडिकल कालेज की स्थापना के लिए विरोध कर रहे हैं। जिला प्रशासन और ग्रामीणों के बीच कई स्तर पर वार्ता हुई लेकिन कामयाबी नहीं मिली। 15 जिलों में एक साथ मेडिकल कालेज की स्थापना को लेकर शासन ने पहले आओ पहले पाओ की शर्त रखी है। ऐसे में प्रस्ताव में विलंब होने पर मेडिकल कालेज जाने का भी खतरा बना हुआ है। जिला कलेक्टर डा. राम मनोहर मिश्र ने विशेष शक्तियों का प्रयोग करते हुए भूमि का प्रस्ताव मेडिकल कालेज बनाने के लिए भेज दिया है। 
सूत्र बताते हैं कि अपनी पुश्तैनी आबादी बचाने के लिए रोहसी बुजुर्ग गांव के कई ग्रामीण हाईकोर्ट जाने की तैयारी में हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Medical college will be made in Rohsi village