DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब पेपरलेस और ऑनलाइन होगी स्वास्थ्य योजनाओं की निगरानी

- विभाग ने अपडेट किया पोर्टल, हर महीने करनी होगी डेटा फीडिंग अब लखनऊ बैठे स्वास्थ्य महकमे के बड़े अफसर जिलों में चल रही योजनाओं की हकीकत ऑनलाइन पोर्टल के जरिए देख-परख सकेंगे। इन विभागों में अब मैनुअल रिपोर्ट भेजने की व्यवस्था को खत्म कर दिया गया है। अब हर जिले और मंडल से सभी तरह की रिपोर्ट ऑनलाइन पोर्टल में अपडेट की जाएगीं। उच्चाधिकारी हर महीने कुछ रिपोर्ट की सत्यता की रेंडम चेकिंग भी करेंगे। सरकार ने चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग हाथ से लिखकर प्रगति रिपोर्ट भेजने की व्यवस्था को खत्म कर दिया। शासन ने चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सभी कार्यक्रमों की समीक्षा पेपरलेस करने का फैसला लिया है। ऑनलाइन पोर्टल पर जिस तरह से आंकड़ों का रखा जा रहा था उसमें तमाम तरीके की खामियां थीं। गुणवत्ता ठीक न होने पर शासन ने इस व्यवस्था को दुरुस्त करने के निर्देश दिए। इन तकनीकी खामियों के कारण दिक्कतें न हों इसकी जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। हर महीने वेबपोर्टल पर फीड किए जाने वाले डेटा की रेंडम तरीके से जांच-पड़ताल भी की जाएगी। ऑनलाइन फीडिंग में किसी प्रकार की गड़बड़ी मिलने पर जिले या मंडलीय जिम्मेदार अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। पहले चरण में इसके लिए सात जिलों का चयन किया जा रहा है। इन जिलों का चयन एनआरएचएम के मिशन निदेशक करेंगे। साथ ही अधिकारियों की टीम में महानिदेशक स्वास्थ्य, महानिदेशक परिवार कल्याण तथा उप्र तकनीकी सहयोग इकाई के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:medical