DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मायावती भतीजे आकाश को बसपा में शामिल कर विरोधियों को देंगी जवाब

बसपा सुप्रीमो मायावती ने मीडिया में भतीजे आकाश आनंद को लेकर आई खबरों पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि उनकी पार्टी परिवारवाद के मामले में पाक-साफ है, फिर भी उनके भतीजे को घिनौनी राजनीति का शिकार बनाया जा रहा है। कांशीराम की शिष्य होने के नाते उन्हें मुंहतोड़ जवाब देना बखूबी आता है। इसलिए भतीजे आकाश को अब मजबूरन बसपा मूवमेंट से जोड़कर, बहुत कुछ सीखने का अवसर दिया जाएगा।

मायावती ने गुरुवार को दिल्ली में बातचीत में भतीजे को लेकर आई खबरों और खासकर एक टीवी चैनल को खूब खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि बसपा-सपा गठबंधन से दलित विरोधी मानसिकता वाली पार्टियों में बौखलाहट व हाथ से सत्ता जाने की बेचैनी है। राजनीतिक तौर पर सीधा मुकाबला न कर पाने से सस्ती व घिनौनी राजनीतिक षड्यंत्र पर उतर आए हैं। उनके जन्मदिन के मौके पर गरीबों के केक खाकर खुशी मनाने को केक की लूट बताकर निगेटिव प्रचार किया गया। छोटे भाई के बेटे आकाश को जन्मदिन के मौके पर लखनऊ में उनके साथ कुछ कार्यक्रमों में शामिल रहने पर उसको पार्टी में बढ़ावा देने व उत्तराधिकारी बताकर प्रचारित किया गया।

उन्होंने कहा कि नौजवान भतीजे को भी जानबूझकर इस तरह से घसीटने का प्रयास उन्हें इस बात पर मजबूर करता है कि इस बारे में जरूर कुछ सोंचें। इसीलिए आकाश को बसपा मूवमेंट से जोड़ा जाएगा। आरोप लगाया कि दूसरी पार्टियों का परिवारवाद नहीं दिखाई दे रहा है। इसी तरह उत्तर प्रदेश में उनकी सरकार के समय भी उनकी चप्पल व सैंडल के संबंध में गलत खबर फैलायी गयी थी। अब यही लोग मेरे भातीजे की चप्पलों के पीछे पड़ गए हैं और उसकी कीमतें ऐसे बता रहे हैं, जैसे खरीद कर दी हो।
बसपा सुप्रीमो ने कहा कि वैसे भी यह जगजाहिर है कि पार्टी व बसपा मूवमेंट के हित में छोटे भाई आनंद कुमार व उसके परिवार के लोगों ने वर्ष 2003 के बाद से लगातार अनेक प्रकार की दुख-तकलीफें व कुर्बानियां आदि देकर उनका 24 घंटे साथ दिया। इनका बसपा मूवमेंट में बिना किसी पद के काफी बड़ा योगदान रहा है। इसीलिए पार्टी के लोगों की सलाह पर आनंद को गैर-राजनीतिक कामों के लिए पार्टी में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया था, लेकिन बाद में उन्होंने स्वयं पद छोड़ दिया। आनंद के बेटे आकाश अपने मां-बाप के साथ मेरे साथ ही दिल्ली में रहते हैं। लखनऊ के कुछ कार्यक्रमों में मेरे साथ आकाश के दिखने पर उसको तुरंत मीडिया द्वारा सस्ती राजनीति का शिकार बनाने का षड्यंत्र अति-निंदनीय है।

यूपी बोर्ड परीक्षा : इस बार सभी जिलों में बार कोड वाली कॉपियां

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mayawatis nephew joins the BSP