DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  मुख्तार के करीबी की तलाश में कई जगह दबिश
लखनऊ

मुख्तार के करीबी की तलाश में कई जगह दबिश

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 08:50 PM
मुख्तार के करीबी की तलाश में कई जगह दबिश

मुख्तार का नेटवर्क लखनऊ में फैला रखा था शाहिद ने

वजीरगंज स्थित घर पर भी हुई तलाशी, नौकर मिला

एम्बुलेंस प्रकरण

लखनऊ। मुख्य संवाददाता

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी मो. शाहिद की तलाश में बाराबंकी पुलिस ने वजीरगंज में स्थित उसके घर के अलावा दो अन्य स्थानों पर दबिश दी। उसके घर पर एक नौकर मिला जिससे पूछताछ की गई। शाहिद से सम्पर्क रखने वाले तीन लोगों से भी पूछताछ की गई।

एम्बुलेंस प्रकरण में बाराबंकी इंस्पेक्टर पंकज सिंह ने बुधवार को फरार चल रहे इनामी गुर्गे आनन्द यादव को गिरफ्तार किया था। आनन्द ने यह खुलासा कर सबको चौंका दिया था कि पंजाब में जेल से कोर्ट में पेशी पर जाते समय एम्बुलेंस में अवैध हथियार भी रखे जाते थे। आनन्द ने फरार चल रहे 25 हजार रुपये के इनामी मुजाहिद व शाहिद के बारे में भी कई जानकारियां दी थीं। इसी के बाद टीम ने गुरुवार को शाहिद की तलाश में वजीरगंज, हजरतगंज और महानगर में दबिश दी। शाहिद पर आरोप है कि उसने डॉ. अलका राय को बताया कि किसी के पूछने पर एम्बुलेंस मामले में उन्हें क्या जवाब देना है। इसके बाद उसने सब ठीक कर लेने की बात कही थी।

बीमा कम्पनी में शाहिद की दहशत

मुख्तार के काफिले में चलने वाली 786 नंबर की गाड़ियों में जरा सी खरोंच आने पर बीमा कम्पनी से उसका टोटल लॉस कराकर पूरा भुगतान करा लिया जाता था। मुख्तार के लिये यह काम शाहिद करता था। बीमा कम्पनी में शाहिद की दहशत थी। इसके अलावा लखनऊ के कई कार बाजार में उसका सम्पर्क है। यही वजह है कि बाराबंकी पुलिस ने दो कार बाजारों के संचालक से भी पूछताछ की।

दंगे में हत्या का आरोपी भी रहा

बाराबंकी के शहर कोतवाल पंकज सिंह ने बताया कि शाहिद कई साल पहले पुराने लखनऊ में हुए दंगे में मार गये लोगों के परिवारीजनों की तहरीर पर हत्या का आरोपी भी बनाया गया था। इस मामले में उसे जेल भी जाना पड़ा था। इसके अलावा उसने हजरतगंज में विरोधियों को फंसाने के लिये अपने ऊपर फायरिंग कराकर उन्हें आरोपी बनाया था। पर, विवेचना में सच सामने आ गया था।

संबंधित खबरें