DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों को पर्यावरण संरक्षण व स्वच्छता का अग्रदूत बनाएं

बच्चे एक चेंज एजेंट की तरह पर्यावरण संरक्षण व स्वच्छता अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकतें हैं I उनको अग्रदूत बनाया जाए। जिससे वह अपने घर, स्कूल व आसपास पर्यावरण को स्वच्छ रखने में सहायक सिद्ध हो सकें। यह बात स्वच्छ एवं हरित पर्यावरणीय समिति (सीजीईएस) की नवगठित इको- क्लब द्वारा परिचर्चा में वक्ताओं ने कही।

चर्चा के दौरान सुझाव दिया गया कि स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर विद्यालयों, पार्कों और घरों के आसपास बच्चों द्वारा पौधरोपण कराया जाय I रोपे जाने वाले पौधों का सामान्य नाम, वानस्पतिक नाम व उसके संक्षिप्त उपयोगों के विवरण की पट्टिका भी लगाई जाय। इससे बच्चों व अन्य लोगों में जागरूकता बढ़ेगी। आईआईटीआर के वैज्ञानिक डा. वीपी शर्मा ने कहा कि पेड़ पौधों वाले क्षेत्रों को पॉलिथीन के कचरे को दूर रखा जाए। संस्था के वीडी माथुर ने कहा कि स्वच्छता व हरियाली को बढ़ाने के लिए लोगों को अपने व्यवहार व सोंच में बदलाव लाना होगा I केवल सरकार के भरोसे रहकर हम अपने लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर सकेंगे। इस मौके पर प्रोफेसर वाईके शर्मा, सीजीईएस के अध्यक्ष सुमेर अग्रवाल, महासचिव डा. एससी शर्मा, सचिव डा. एके सिंह ने पर्यावरण संरक्षण पर विचार साझा किये और कपड़े के झोलों के इस्तेमाल की अपील की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Make children a forerunner of environmental protection and cleanliness