DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटरी दुकानदारों के लाइसेंस शुल्क में होगी कमी

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

वेंडिंग जोन के दुकानदारों के लाइसेंस शुल्क में कमी होगी। बुधवार को नगर निगम अधिकारियों की पटरी दुकानदार नेताओं के साथ बैठक हुई। जिसमें शुल्क कम करने पर सहमति बन गयी। दुकानदार लम्बे समय से शुल्क में कमी की मांग कर रहे थे। नयी दरें जल्दी ही घोषित हो जाएंगी।

वेंडिंग जोन में दुकानें लगाने वाले पटरी दुकानदारों को नगर निगम को लाइसेंस शुल्क देना होगा। अभी स्थिर दुकानदारों के लिए 600 रुपए महीने व 7200 रुपए सालाना शुल्क निर्धारित था। जबकि फेरी वालों को 2400 रुपए सालाना एवं साइकिल वालों का 1000 रुपए वार्षिक लाइसेंस शुल्क प्रस्तावित था। झउआ व डलिया वालों का 600 वार्षिक व तीज त्योहार की दुकानों के लिए 20 से 50 रुपए रोजाना शुल्क प्रस्तावित किया गया था। पटरी दुकानदार ज्यादा शुल्क होने की वजह से इस पर सहमत नहीं थे। वह इनमें कमी की मांग रह थे। बुधवार को नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी, अपर नगर आयुक्त अमित कुमार की पटरी दुकानदार नेताओं के साथ लम्बी बैठक चली। जिसमें दुकानदारों के सभी मुद्दे सुलझा लिए गए। नगर निगम शुल्क कम करने को तैयार हो गया है। इसी के साथ पटरी दुकानदारों के लिए ठेले व दुकानें लगाने के समय को लेकर भी विवाद था। इसका मुद्दा भी सुलझ गया।

-------------------------

सभी जोनों में बनेंगे एक एक माडल वेंडिंग जोन

नगर निगम सभी आठों जोनों में एक एक माडल वेंडिंग जोन बनाएगा। इसका प्रस्ताव तैयार हो गया है। हुसेडिया माडल वेंडिंग जोन का काम नगर निगम ने शुरू करा दिया है। इसके लिए बजट भी मिल गया है। बाकी के कुछ जोनों के वेडिंग जोन का डीपीआर तैयार हो गया है।

--------------

पटरी दुकानदारों की जो समस्याएं थीं उनका निदान करा दिया गया है। बैठक में सभी मुद्दों पर बात हुई। उनकी बड़ी मांग लाइसेंस शुल्क कम करने की थी। इसे मान लिया गया। जल्दी ही नयी दरें जारी कर दी जाएंगी। माडल वेंडिंग जोन का भी काम चल रहा है।

इन्द्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:magar