अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले ही दिन 45 हजार छात्रों में छोड़ी मदरसा बोर्ड की परीक्षा

नकल पर नकेल का असर सोमवार को मदरसा बोर्ड की परीक्षा में भी दिखाई दिया। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की परीक्षा के पहले ही दिन करीब 45 हजार परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। यह आंकड़ा अभी और बढ़ सकता हैं। क्योंकि देर रात तक जिलों में गैरहाजिर छात्र-छात्राओं की फीडिंग जारी थी। मदरसा बोर्ड की परीक्षा में पहली बार इतनी बड़ी तादात में छात्र गैरहाजिर रहे हैं।

मदरसा बोर्ड की परीक्षा के लिए प्रदेश में 2.41 लाख छात्र ऑनलाइन रजिस्टर्ड थे। रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने बताया कि पहली पाली में आठ बजे से 11 बजे तक मुंशी व मौलवी की परीक्षा से करीब 28,064 छात्र गैरहाजिर रहे। इस परीक्षा में प्रदेश में 1.34 लाख परीक्षार्थी रजिस्टर थे। वहीं दूसरी पाली में आयोजित (02 बजे से 05 बजे तक) आलिम, कामिल व फाजिल की परीक्षा में करीब 17 हजार छात्र-छात्राओं ने परीक्षा छोड़ी। इस परीक्षा में 1.07 लाख परीक्षार्थियों को शामिल होना था। जानकार इसे यूपी बोर्ड की तरह ही मदरसा बोर्ड परीक्षा में हुई नकल के खिलाफ हुई सख्ती का असर मान रहे हैं। उनका मानना है कि इससे पहले कभी इतनी बड़ी संख्या में परीक्षार्थी गैरहाजिर नहीं रहे। आगे होने वाले पेपरों में भी यह सिलसिला जारी रहने की उम्मीद है।

लखनऊ में गैरहाजिर रहे 34 प्रतिशत छात्र

मदरसा बोर्ड परीक्षा के पहले ही दिन लखनऊ में 34 प्रतिशत परीक्षार्थी परीक्षा देने नहीं आए। यहां कुल 5468 छात्र पंजीकृत थे। इनमें से 1863 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। पहली पाली में मुंशी व मौलवी की परीक्षा से 966 और दूसरी पाली में आमिल, कामिल, फाजिल की परीक्षा से 897 छात्र-छात्राएं गैरहाजिर रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:madarsa board EXAM