अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानव एकता के लिए धर्म गुरुओं का जमावड़ा होगा

धर्म और ध्यान द्वारा मानव एकता व विश्वशांति विषय पर होगी संगोष्ठीदेश-विदेश में भी खुलेंगी अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान की शाखाएंलखनऊ। वरिष्ठ संवाददाताअंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान की अगुवाई में 29 मार्च को राजधानी के गोमतीनगर विस्तार योजना स्थित सीएमएस कॉलेज में धर्म गुरुओं का जमावड़ा होगा। यहां धर्म और ध्यान द्वारा मानव एकता व विश्वशांति विषय पर आयोजित संगोष्ठी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा सहित देश-विदेश के तमाम धर्म गुरु भाग लेंगे। यह जानकारी बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान के अध्यक्ष भंते शांति मित्र ने दी।पंथ अलग, प्रकृति धर्म एकभंते ने कहा कि पंथ अलग-अलग हैं लेकिन संपूर्ण जगत का प्रकृति धर्म एक है। वोट बैंक के लिए राजनीतिक दलों की ओर से धर्म निरपेक्षता की बात कही जा रही है,जो मानवता का अपमान है। लोगों को एकजुट करने और धर्म के महत्व को आगे बढ़ाने का काम शुरु कर दिया गया। धर्म सापेक्ष समाज के निर्माण के लिए शुरु की गई इस मुहिम से सभी लोग जुटकर विश्वकल्याण की कड़ी को मजबूत करें। अनुभव करेंगे साझासंगोष्ठी में बौद्ध, जैन मतावलंबी, सनातन मत, शिव उपासक, इस्लाम, बहाई व सिक्ख धर्म गुरु एक मंच से अपनी-अपनी अनुभूतियों को साझा करेंगे। संगोष्ठी में करीब चार हजार से अधिक लोग हिस्सा लेंगे। इसमें नागपुर से ऑल इंडिया भिक्षु संघ के अध्यक्ष भदंत सदानंद, सचिव पी सिब्ली, भूटान से महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष, फादर साइमन, श्वेताबंर मुनि जैन, लोकेश जैन, मुस्लिम धर्म गुरु एएच खान, गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पांड्या आदि हिस्सा लेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:m