DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंधी और बूंदाबांदी ने बढ़ाई किसानों की चिंता

लखनऊ हिन्दुस्तान टीम

मंगलवार रात से अवध क्षेत्र के कई जिलों में बदले मौसम के बीच आंधी और बूंदाबांदी हुई। इससे किसानों की खेतों में तैयार खड़ी गेहूं की फसल को बचाने की चिंता बढ़ गई है।

मंगलवार रात से बदला मौसम बुधवार को भी जारी रहा। रायबरेली में रात से शुरू हुई बूंदाबांदी बुधवार तक जारी रही। श्रावस्ती, सुलतानपुर में भी आंधी के साथ बूंदाबांदी हुई। अयोध्या में मंगलवार को आंधी की दस्तक के बाद आसमान में दिन भर धुंध छाई रही। बुधवार को भोर से ही बादलों की लुका-छिपी के बीच हल्कीबूंदा-बांदी शुरू हो गई। श्रावस्ती मंगलवार को आसमान में छाई बदली बुधवार को और घनी हो गई। कई स्थानों पर छिटपुट बूंदाबांदी भी शुरू हो गई। इससे किसानों के चेहरे लटक गए।

सुलतानपुर जिले में छिटपुट बारिश के कारण गेहूं की मड़ाई का काम ठप हो गया है। खेत में काटकर छोड़ी गई गेहूं की फसल हवा के चलते उड़कर इधर-उधर हो गई। बुधवार को दिन में भी रुक-रुककर बूंदा-बांदी हुई।

रायबरेली जिले में मंगलवार की देर रात्रि शुरू हुई रिमझिम बारिश ने गेहूं की फसल पर वज्रपात किया। कटी फसल पर जहां खेतों में ही सड़ने का खतरा मंडराने लगा वहीं खड़ी फसल भी प्रभावित हुई। रिमझिम बरसात का पानी भले ही सड़कों पर न दिखता हो लेकिन गेहूं की फसल बरबाद करने के लिए काफी है। कटा हुआ गेंहू जो भीग गया उसका दाना काला हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lucknow