DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोगुना तक बढ़ गए मानव तस्करी के मामले, हस्ताक्षर अभियान

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग व ह्यूमन लिबर्टी नेटवर्क की ओर से मानव तस्करी की रोकथाम और पुर्नवास को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इसमें छात्र-छात्राओं समेत करीब 700 लोगों ने हस्ताक्षर किए। स्टेट एडवोकेसी कोऑर्डिनेटर राजेन्द्र कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्डस ब्यूरो के अनुसार 2014 में 5466 मामलों की तुलना में 2015 में मानव तस्करी के कुल 6877 दर्ज किए गए थे जबकि 2016 में मानव तस्करी के 8132 मामले सामने आए। इससे साफ पता चलता है कि मानव तस्करी में बढ़ोत्तरी हो रही है। इसलिए देश में मानव तस्करी को रोकने के लिए विधेयक बनना बहुत जरूरी है।

कार्यक्रम में विभागाध्यक्ष प्रो गुरनाम सिंह ने कहा कि मानव तस्करी जैसे गम्भीर मुद्दें पर एकजुट होकर कार्य किए जाने की जरुरत है। लविवि की राष्ट्रीय सेवा योजना ईकाई शिक्षा एवं मूल्यों को और बेहतर कर हमारी दक्षता को बढ़ाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली को मानव तस्करी के व्यापार का मुख्य केन्द्र माना गया है जो कि पूरे विश्व का आधा है। इससे रोकने के लिए लोगों को जागरूक करना जरूरी है। इसमें युवा महिलाओं को इसमें शामिल किया जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lu