ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊलोकसभा चुनाव 2019: गठबंधन के बाद पहली बार मायावती से मिले जयंत चौधरी, पश्चिमी यूपी के राजनीतिक हालात पर हुई चर्चा 

लोकसभा चुनाव 2019: गठबंधन के बाद पहली बार मायावती से मिले जयंत चौधरी, पश्चिमी यूपी के राजनीतिक हालात पर हुई चर्चा 

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी शनिवार को बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती से मिले। दोनों के बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालात पर लगभग एक घंटे तक चर्चा हुई। बैठक के बाद...

लोकसभा चुनाव 2019: गठबंधन के बाद पहली बार मायावती से मिले जयंत चौधरी, पश्चिमी यूपी के राजनीतिक हालात पर हुई चर्चा 
प्रमुख संवाददाता ,लखनऊ। Sat, 16 Mar 2019 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी शनिवार को बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती से मिले। दोनों के बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालात पर लगभग एक घंटे तक चर्चा हुई। बैठक के बाद जयंत चौधरी ने प्रदेश की सभी 80 सीटों पर महागठबंधन की जीत होने का दावा किया।

यह बैठक लखनऊ में मॉल एवेन्यू स्थित बसपा अध्यक्ष मायावती के आवास पर हुई। इस दौरान बसपा के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा के अलावा रालोद के वरिष्ठ नेता अनिल दुबे, शिव करन सिंह व विक्रम सिंह भी मौजूद रहे। प्रदेश में सपा, बसपा व रालोद के बीच गठबंधन होने के बाद जयंत चौधरी की मायावती से पहली मुलाकात थी। जयंत चौधरी शाम 4 बजे के करीब मायावती के आवास पर पहुंचे।

बैठक के बाद बाहर आने पर पत्रकारों से बातचीत में जयंत चौधरी ने कहा कि उन्होंने मायावती का आशीर्वाद लिया है और उनके साथ देश व प्रदेश की राजनीति पर चर्चा की है। उन्होंने कहा कि हमने अपने कार्यकर्ताओं को महागठबंधन का संदेश देने पर भी चर्चा की। इसमें शामिल तीनों दल अपने-अपने कार्यकर्ताओं को यह संदेश देंगे कि प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करनी है। 

प्रयागराज से भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता को सपा ने बांदा से दिया टिकट

रालोद को महागठबंधन में शामिल करते हुए मथुरा, मुजफ्फरनगर व बागपत की लोकसभा सीट दी गई है। ऐसी संभावना है कि मुजफ्फरनगर सीट से पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह खुद चुनाव लड़ेंगे, जबकि बागपत से उपाध्यक्ष जयंत चौधरी मैदान में होंगे। तीसरी सीट मथुरा से प्रत्याशी का चयन अभी होना है। यहां से अभी किसी का नाम तय नहीं है। तीनों सीटों पर प्रत्याशियों की आधिकारिक घोषणा एक साथ की जाएगी। 

लोकसभा चुनाव 2019: जानिए, अजीत सिंह की पार्टी के लिए इस लोकसभा चुनाव के क्या हैं मायने

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें