DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोहिया अस्पताल में दवाओं का संकट, मरीज बेहाल

- मरीजों को नहीं मिल रही सामान्य दवाएं - जन औषधि में भी नहीं मिल पा रही दवा लखनऊ। निज संवाददाता गोमती नगर के डॉक्टर राम मनोहर लोहिया संयुक्त अस्पताल में दवाओं का संकट है। मरीजों को सामान्य बीमारी की दवाएं बमुश्किल मिल रही हैं। जबकि गंभीर बीमारियों की दवाएं नहीं मिल रही है। अस्पताल के काउंटर से दवाएं न होने की बात कहकर मरीजों को बाहर से खरीदने की सलाह दी जाती है। यही नहीं अस्पताल परिसर में बने जन औषधि केंद्र पर भी वह दवाएं नहीं मिल रही। इस वजह से मरीज को नि:शुल्क की जगह बाजार से महंगी दवा खरीदनी पड़ रही है। छह में से तीन दवा दी अस्पताल में शनिवार को डॉक्टर ने एक मरीज के पर्चे पर छह दवाएं लिखीं। इनमें से तीन दवाएं अस्पताल के दवा काउंटर से मिलीं। लेकिन तीन दवाएं नहीं दी गईं। मरीज को तीन दवाओं के लिए काउंटर नंबर आठ पर भेज दिया गया। काउंटर नंबर आठ पर बैठे फार्मासिस्ट ने बताया कि दवाएं कई दिन से नहीं आ रही हैं। इन दवाओं को जन औषधि केंद्र या बाहर मेडिकल स्टोर से खरीदें। इस मरीज को फिशरी की समस्या थी। ऐसे ही एक मरीज सड़क हादसे में घायल होने के बाद घाव सूखने की दवा लेने गया। मरीज को बताया गया कि घाव सूखने की दवा नहीं है। जन औषधि पर भी नहीं मिली दवा मरीज और तीमारदार काउंटर पर सरकारी दवा नहीं मिलने पर अस्पताल परिसर में इमरजेंसी के पास बने जन औषधि केंद्र पर गए। वहां पर भी मरीज को दो दवा नहीं मिली। एक दवा मिली। केंद्र के कर्मचारी ने बाहर मेडिकल स्टोर से दवा खरीदने की सलाह दी। आखिरकार मरीज को बाहर से महंगे दाम पर बाहर दवा खरीदनी पड़ी। मरीज के पास रुपए नहीं थे। उसने किसी से उधार लेकर दवा खरीदी। सामान्य दवाएं बमुश्किल मिल रही लोहिया अस्पताल में मरीजों को सामान्य बीमारी की बमुश्किल दवाएं मिल रही हैं। इसमें कैल्शियम, आयरन, बुखार, पेट दर्द समेत अन्य प्रकार की दवाएं ही मौजूद हैं। जबकि दिल, गुर्दे, लिवर, दर्द का ट्यूब समेत अन्य बीमारियों की कुछ दवाएं मौजूद नहीं हैं। काउंटर पर मौजूद फार्मासिस्टों ने बताया कि दवा नहीं आ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lohia