DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'बृज में होली कैसे खेलूं मैं तो सांवरिया के संग'

-पर्वतीय समाज पर चढ़ा होली का रंग, बैठकी होली की शुरुआत

-महिलाओं और पुरुषों ने अलग-अलग गाई होली, डांस भी किया

होली का त्योहार आते ही पर्वतीय समाज के लोग भी उसमें रंगने लगे हैं। रविवार को पर्वतीय समाजोत्थान परिषद अवध विहार सेक्टर-11 इंदिरानगर में बैठकी होली शुरू हुई। इस दौरान पुरुषों और महिलाओं ने होली गीतों पर 'बृज में होली कैसे खेलूं मैं तो सांवरिया के संग' गीत पर खूब नृत्य किया। समारोह में महिलाएं ढोल-करताल और झाल के साथ दिखीं। उन्होंने एक-दूसरे को गुलाल लगाया। पुरुषों की भी बैठकी होली यहां हुई।

इसके बाद होली गाने का दौर शुरू हुआ। 'होली खेलें रघुवीरा अवध में..' गाने के साथ समारोह की शुरुआत हुई। महिलाएं पूरे स्वर में होली गा रही थीं। 'आज ब्रज में होली रे रसिया', 'गोरिया करके सिंगार आंगन में ..,' ओ कान्हा जिद ना करो, ऐसी पिचकारी मारो और अम्बा के भवन में विराजे होली के बोल माहौल को होलीमय बना रहे थे। इन होली गीतों पर महिलाएं झूम रही थीं। उपाध्यक्ष डीडी काण्डपाल, शमशेर चंद्र, संयाजेक कैप्टन नन्दन सिंह नेगी, संगठन सचिव हिमांशु भट्ट समेत कई लोगों ने आयोजन को सफल बनाने में मदद की। समारोह की अध्यक्षता परिषद के अध्यक्ष गोविन्द बल्लफ फुलारा एवं कार्यक्रम का संचालन महासचिव सीएम जोशी ने किया। सीएम जोशी, किशोर चंद्र कोठारी, सुनीता रावत, दीप फुलारा, इंदिरा तिवारी, मंजू जोशी, राधा फुलारा ने गीत प्रस्तुत किए। मोहिनी फुलारा, किशोर चंद्र कोठारी जी, दीप फुलारा, सी एम जोशी, मंगल सिंह रावत ने नृत्य प्रस्तुत किया।

पूर्व मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि दी गई

बैठकी होली की शुरुआत से पहले पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया गया। सभी ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री प्रो रीता बहुगुणा जोशी के पुत्र मयंक जोशी, हिमांशु भट्ट, भाजपा नेता नीरज सिंह, पार्षद अमिता सिंह, उत्तराखंड महापरिषद के अध्यक्ष मोहन सिंह बिष्ट समेत कई लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko