DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदाताओं ने कहा नहीं मिली पीली पर्ची तो डीएम हैरान

जिला प्रशासन ने 11 फरवरी से पीली पर्ची बांटने का अभियान चलाया। उद्देश्य था कि इस पर्ची में नाम नहीं मिलने पर मतदाता सम्पर्क करेंगे। जिनका नाम छूट गया वो जुड़वाएंगे। वहीं लापरवाह बीएलओ ने इस अभियान के पहले चरण को ही झटका दे दिया। रविवार को डीएम खुद यह देखने निकले कि कितने मतदाताओं तक पीली पर्ची पहुंची है। इस दौरान फ्लैटों में रहने वाले अधिसंख्य मतदाताओं ने कहा कि उनको पर्ची नहीं मिली है। नाराज डीएम ने संबंधित बीएलओ पर कार्रवाई का निर्देश दिया है।

शहर में 200 से अधिक अपार्टमेंट हैं। इन स्थानों पर पीली पर्ची पहुंची या नहीं यह देखने डीएम कौशल राज शर्मा, सीडीओ मनीष बंसल ने सुबह से दोपहर तक कई अपार्टमेंट का निरीक्षण किया। सबसे पहले डीएम बटरलर पैलेस के पास स्थित अशोक अपार्टमेंट पहुंचे। यहां 49 फ्लैट हैं लेकिन कुछ घरों तक ही पर्चियां पहुंची हैं। इस पर डीएम ने बीएलओ को फटकार लगाई और तीन दिन में सभी घरों में पीली पर्ची पहुंचाने का निर्देश दिया। इसके बाद डीएम सहारागंज मॉल स्थित लगाए गए कियॉस्क पर गए। यहां जानकारी मिली कि सुबह से 150 लोगों का नाम जांचा जा चुका है। 50 लोगों के नाम सूची में नहीं थे जिन्होंने मतदाता बनने के लिए आवेदन किया है।

बीएलओ को नोटिस दिया गया

प्राग नारायण रोड स्थित शालीमार अपार्टमेंट में पीली पर्ची वितरण का निरीक्षण करते हुए पता लगा कि एक बीएलओ अनुपस्थित है। इस पर डीएम ने बीएलओ का वेतन रोकने और विभागीय कार्रवाई का नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। इसके बाद डीएम ने जब मौके पर मौजूद सुपरवाइजर से पीली पर्ची के वितरण की जानकारी मांगी तो वह कुछ भी न बता सका। इस पर डीएम ने सुपरवाइजर को भी नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko