DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बोर्ड परीक्षाओं में मूल्यांकन दरें बढ़ीं

cameras monitor

यूपी बोर्ड परीक्षाओं में मूल्यांकन में विभिन्न मदों में पारिश्रमिक बढ़ा गया है। शिक्षक मूल्यांकन में पारिश्रमिक बढ़ाने की मांग कर रहे थे। अब हाईस्कूल की कॉपी जांचने के लिए 8 की जगह 11 रुपये और इंटरमीडिएट की कापी जांचने पर 10 की जगह 13 रुपये दिये जाएंगे। 
इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। सभी मूल्यांकन परीक्षकों की निर्धारित पारिश्रमिक सीमा 12,500 की जगह 20 हजार रुपये सभी पारिश्रमिक समेत प्रति परीक्षक कर दी गई है।  

केन्द्र व्यवस्थापक को 120 की जगह 160 रुपये प्रति पाली भुगतान किया जाएगा। अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक को 80 की जगह 106, कक्ष निरीक्षक को 72 की जगह 96 रुपये, लिपिक को 25 की जगह 33 रुपये प्रतिदिन भुगतान दिया जाएगा। सबसे ज्यादा धनराशि प्रश्नपत्र निर्माण के मद में बढ़ाई गई है।

1800 रुपये की जगह 2394 रुपये प्रति प्रश्नपत्र के एक सेट के लिए दिये जाएंगे। वहीं अंग्रेजी अनुवाद के लिए 600 की जगह 800, परिमार्जन के लिए 120 की जगह 150 रुपये मंजूर किये गये हैं। प्रयोगात्मक परीक्षा के लिए 8 रुपये प्रति विद्यार्थी दिये जाएंगे। यूपी बोर्ड की कॉपियों का मूल्यांकन 8 मार्च से शुरू हो चुका है और मूल्यांकन का काम 15 दिनों में पूरा किया जाना है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Evaluation rates increased in UP board exams