DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लखनऊ से नेपालगंज तक बस परमिट को मिली मंजूरी

लखनऊ से नेपालगंज तक बस से सफर करने का रास्ता साफ हो गया। भारत सरकार की ओर से दोनों देशों के बीच बस संचालन संबंधी परमिट को मंजूरी दे दी है। गुरुवार को इस संबंध में सप्रू मार्ग स्थित क्षेत्रीय परिवहन निगम कार्यालय पर नेपाल बस संचालन समिति के सदस्यों के साथ बैठक हुई।

बैठक में क्षेत्रीय प्रबंधक ने लखनऊ से बस संचालन को लेकर रूपरेखा तैयार की। जिस पर नेपालगंज बस आपरेटर समिति ने हस्ताक्षर कर दिया।

बैठक में जल्द ही लखनऊ से नेपालगंज तक सस्ती एसी जनरथ बसों का संचालन शुरू करने पर सहमति बन गई है। यह जानकारी देते हुए क्षेत्रीय प्रबंधक पीके बोस ने बताया कि एक सप्ताह के भीतर लखनऊ नेपाल मैत्री बस समझौते के अंतर्गत बस संचालन शुरू होगा। पहले चरण में बस का संचालन आलमबाग बस टर्मिनल से नेपालगंज तक व दूसरे चरण में आलमबाग से काठमांडू तक बस चलाने की तैयारी है।

आलमबाग से नेपालगंज रूट सर्वे होगा

आलमबाग से नेपालगंज वाया रूपेहडीहा रूट पर यातायात निरीक्षक सर्वे करके अपनी रिपोर्ट सौपेंगे। रिपोर्ट के आधार पर किलोमीटर तय होगा। किलोमीटर के आधार पर किराया तय करते हुए बसों की समय सारणी तय की जाएगी। बस का संचालन रोजाना होगा। यात्रियों की सुविधा के लिए इस बस टिकट काउंटर के अलावा ऑनलाइन सीटों की बुकिंग सुविधा होगी।

पांच घंटे का सफर होगा

आलमबाग से नेपालगंज तक तकरीबन 250 किलोमीटर की दूरी होगी। इस दूरी को जनरथ बस पांच घंटे में पूरा करेगी। बस नेपालगंज पहुंचने के बाद यात्री वहां से अन्य स्थानों के लिए टैक्सी का इस्तेमाल करेगी। वहीं नेपालगंज से काठमांडु पहुंचने में बस से दस से बारह घंटे का समय लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko