DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश की एकता अखण्डता नेताओं पर निर्भर नहीं

-रमेश कुमार पप्पा ने कहा हिन्दुओं को संगठित कर रहा आरएसएस

-बटलर पैलेस में आरएसएस संवाद नगर द्वारा आयोजित मकर संक्रान्ति उत्सव

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख रमेश कुमार पप्पा ने कहा कि आज समाज संगठित है। इसलिए देश की एकता अखण्डता नेताओं पर निर्भर नहीं है। समाज में समरसता उत्पन्न हो इसके लिए प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की 93 वर्षों की तपस्या के कारण आज देशभर में एकात्मता दिखाई पड़ती है। वह सोमवार को बटलर पैलेस स्थित क्लब सभागार में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ संवाद नगर द्वारा आयोजित मकर संक्रान्ति उत्सव में बोल रहे थे।

स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज संगठित होगा तभी पूरा देश संगठित होगा। हिन्दू समाज को संगठित किये बिना भारत में परमवैभव नहीं आ सकता। राष्ट्रीय विचार को लेकर संघ के स्वयंसेवक कार्य कर रहे हैं। संघ के कारण देश तोड़ना आज संभव नहीं है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बलरामपुर अस्पताल के निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने कहा कि मकर संक्रान्ति सामाजिक समरसता का पर्व है। संघ इसी कार्य में लगा है। इस मौके पर भाजपा के राज्यसभा सांसद डा. अशोक बाजपेई, लखनऊ दक्षिण भाग के भाग संघ चालक सुभाष अग्रवाल, भाग कार्यवाह श्याम त्रिपाठी, संवाद नगर के नगर संघचालक राम औतार अग्रवाल, सेवा भारती के महानगर संयोजक रवीन्द्र सिंह गंगवार, हेमेन्द्र सिंह तोमर, बृजनन्दन प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

समाज में मिठास पैदा करें स्वयंसेवक

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख ने कहा कि स्वयंसेवक समाज में मिठास पैदा करें। संघ में तो समरसता आ गयी है लेकिन अपने घरों में भी हमको समरसता लानी है। हमारे व्यवहार में परिवर्तन आना चाहिए। हिन्दू समाज संगठित होगा तब तभी देश संगठित होगा। देश की संस्कृति के प्रति स्वाभिमान होना चाहिए

देश की संस्कृति के प्रति स्वाभिमान होना चाहिए

शाखा में संस्कार मिलते हैं। नित्य सिद्ध संघ शक्ति की उपासना करते हैं। स्वयंसेवक देश व समाज के बारे में विचार करता है। कश्मीर से लेकर केरल में कुछ होता है तो पूरे देश के लोगों को दुख होता है। संघ कार्यकर्ताओं की मेहनत के कारण यह संभव हो पाया है। श्री पप्पा ने कहा कि संघ परिवर्तन के कार्य में लगा है। दुनिया के 40 देशों में आज संघ का काम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko