DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब बात इज़्ज़त पर आती है तो हर नारी बन सकती है झांसी की रानी

-स्टार भारत के शो 'एक थी रानी एक था रावण' 21 जनवरी से रात आठ बजे से

-20 साल की मनुल चूडासमा और राम यशवर्द्धन होंगे मुख्य भूमिका में

जब बात इज़्ज़त पर आती है तो हर नारी बन सकती है झांसी की रानी। स्टार भारत पेश करते हैं ऐसा प्राइम टाइम शो 'एक थी रानी एक था रावण'। जो आज की नारी को साकार करता है। भारत में महिलाओं का पीछा करना, उन्हें परेशान करना और राह चलते उनसे छेड़छाड़ करना बहुत ही आम समस्या है। लेकिन क्या एक आम समस्या समझकर इस मुद्दे पर बात न करना या कोई प्रतिक्रिया न देना सही है। बिल्कुल नहीं, बल्कि इस मामले में चुप रहना भी उतना ही तकलीफ़देह है। बनिए रानी के इस सफ़र का हिस्सा और देखिए 'एक थी रानी एक था रावण'-21 जनवरी से रात आठ बजे सिर्फ़ स्टार भारत पर।

स्टार भारत एक ऐसा शो प्रस्तुत करते हैं जो भारतीय समाज की पारंपरिक सोच को चुनौती देते हुए महिलाओं का पीछा करने जैसे अपराधों को सही मायने में समाज के सामने लाता है और समाज को महिलाओं के प्रति अपनी सोच बदलने के लिए प्रेरित करता है। ये कहानी है झांसी में रहने वाली रानी की। रानी एक बिखरे हुए परिवार की लड़की है जो पढ़ना चाहती है। जीवन में कुछ बनना चाहती है। वो घर से बाहर तो निकलती हैए लेकिन एक डर के साथ। वो डरती है 27 वर्षीय रिवाज से जो उस पर हर पल नज़र रखता है। जो न उसका दोस्त है। न ही प्यार, बल्कि उसका पीछा करने वाला एक शख़्स है। इसी डर से रानी अपने घर से बाहर निकलने में भी घबराती है। लेकिन जब बात इज़्ज़त की आई तो आज की झांसी वाली रानी भी रानी लक्ष्मीबाई की तरह ही इस सामाजिक बुराई के ख़िलाफ़ डटकर खड़ी हो गई। पनोरमा एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित इस शो में रानी की मुख्य भूमिका में हैं मनुल चुडासमा और रिवाज की भूमिका में राम यशवर्धन हैं। इस शो के प्रमोशन को जानदार बनाने के लिए दमदार अभिनेता और गायिका इला अरुण जी की मोहक आवाज़ में गीत रिकॉर्ड किया गया है। छोटे पर्दे के कई अन्य कलाकार जैसे संजीव सेठ, वैष्णवी राव, अश्विन कौशल, ऋत्विका डे आदि भी इस शो में विभिन्न भूमिकाओं में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko