DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगराम-मेडिकल

-नगराम के अमवा मुर्तजापुर गांव में डरे हुए हैं लोग

-एक सप्ताह में एक युवक सहित चार बच्चों की हुई मौत

नगराम के अमवा मुर्तजापुर गांव में एक सप्ताह में एक युवक सहित चार बच्चों की अचानक हुई मौत ने इलाके में दशहत फैला दी है। लोग डरे हुए हैं और अपने बच्चों को घरों से बाहर नहीं निकलने दे रहे हैं। संदिग्ध स्थिति में हुई मौतों के लक्षण उल्टियां आना और बच्चों को हुआ खसरा बताया जा रहा है। गांव मे अबतक चार बच्चों सिलसिले वार हो रही मौत का कारण अनजान बीमारी बना हुआ है। लोगों का आरोप है कि प्रशासन अपनी जिम्मेदारी को नहीं निभा रहा है। चार बच्चों की मौत के बाद गुरुवार को सीएमओ की टीम पहुंची जिसने एंटी लार्वा का छिड़काव कराकर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर ली। लोगों ने मांग की है कि गांव में सफाई वृह्द स्तर पर कराकर बीमारी को रोकने का प्रयास किया जाये।

-------------------------

इन बच्चों की मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। दीपाशु (03) का पोस्टमार्टम कराया गया उसमें भी मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया। दीपाशु के बिसरे को विधि विज्ञान प्रयोगशाला महानगर भेजी गई है। पानी का नमूना लिया गया, एंटी लार्वा का छिड़काव करवाया गया।

डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल, सीएमओ

------------------------------

चार मौतों के बाद जागा प्रशासन, एंटी लार्वा का छिड़काव करवाया

नगराम में बच्चों की मौत होने की जानकारी मिलने पर गुरुवार को मुख्य चिक्तिसाधिकारी डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल सुबह टीम के साथ गांव पहुंचे और वहां लोगों से बातचीत की। निरीक्षण के दौरान उन्होंने गांव मे एन्टी लॉर्वा व कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराया। कराने के साथ ही टीम ने इन्डिया मॉर्का नलों से पानी के सैम्पल भी लिये।

-रोगी वाहन को 24 घंटे एलर्ट रहने के निर्देश

-प्रतिदिन गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाने के निर्देश

घर-घर जाकर जांच के निर्देश

अनजान बीमारी की पुष्टि नहीं होने से पूरे इलाके में दशहत फैली हुई है। सीएमओ नरेन्द्र अग्रवाल, एसीएमओ आरबी सिंह ने नगराम सीएचसी के डॉक्टरों की टीम को घर-घर जाकर जांच के आदेश दिये हैं। लोगों से साफ-सफाई करने को भी कहा जा रहा है।

खसरा और उल्टियां आने के बाद हुई बच्चों की मौत

बुधवार की रात दिलीप शर्मा की डेढ़ वर्ष बच्ची रेशमा की मौत हो गई। दिलीप ने बताया कि बच्ची को कई दिनों से खसरा था। मो. इस्लाम की भी बुधवार को मौत हो गई। पत्नी शायरा बानों की दवा लेकर बाईक से लौटते समय उसे उल्टियां होने लगीं और रास्ते मे परीवा गांव के पास उसकी मौत हो गई।

अनजान बीमारी से इनकी हुई मौत

गांव मे पांच जून से बुधवार तक दिपाशू (4), सुजान (14), सोनी(दो माह), रेशमा (डेढ वर्ष), मो.इस्लाम(30) सहित पांच लोगों की अनजान बीमारी से मौत हो चुकी है ।

विधायक मिलने पहुंचे, परिवारों की आर्थिक मदद की

अमवा मुर्तजापुर गांव पंहुचे सपा विधायक अम्ब्रीश पुष्कर ने मृतको के परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया दो बच्चियों की मौत से बिलख रही दिलीप शर्मा की पत्नी राधा को दो हजार रूपये व मृतक मो. इस्लाम की पत्नी शायना बानों को मदद के लिये पांच हजार रुपये दिये। विधायक ने शायना बानो को प्रधान मंत्री आवास व पेंशन दिलाने का आश्वासन दिया । गांव में निरीक्षण कर लोगों को शुद्ध पानी पीने सहित आस पास सफाई करने की सलाह दी ।

गांव में क्लोरीन की दवा बांटी

डॉक्टरों की टीम ने गांव मे क्लोरीन की दवाएं बाटी लोगों को पानी मे दवा मिलाकर पीने की सलाह दी। एक दर्जन से अधिक बच्चों का ब्लड सैम्पल लेकर जांच क़े लिये भेजा गया है। जबकि इन्डिया मॉर्का नल के पानी की जांच के लिये सैम्पल लिये गये।

मौतों के बाद जागे ग्राम प्रधान, सफाई कराई

गांव मे बजबजाती नालियां व घरों के सामने बने गड्ढों मे वर्षो से जमा गन्दा पानी बदबू मार रहा है। गांव में घरों से नकलने वाला गन्दा पानी घरों के सामने जमा है। गांव की रीता, सुन्दारा मुख्तार सहित दर्जनों लोगों ने बताया कि गांव मे तैनात महिला सफाई कर्मी साल भर से गांव नही आ रही है। मौत का सिलसिला बढ़ने से ग्राम प्रधान ने नाली सफाई के लिये एक मजदूर को लगा रखा है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko