DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोमती की धारा अविरल हो, पॉलीथिन का प्रयोग बंद हो

विश्व पर्यावरण माह के तहत बुधवार को एक बार फिर से गोमती नदी की सफाई के लिये लोग जुटे। उन्होंने गोमती की धारा अविरल हो और इसमें पॉलीथीन का प्रयोग बंद हो इस तरह का संकल्प भी लिया।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों व कर्मचारियों ने श्री शुभ संस्कार समिति के सहयोग से गोमती नदी में श्रमदान किया। सुबह आठ बजे से कुड़ियाघाट पर श्रमदान कार्यक्रम शुरू हुआ। निदेशक एस के गुप्ता के अनुसार पॉलीथिन का उपयोग को खत्म करने के लिए लोगों को जागरूक करने का काम भी किया जा रहा है। प्रदेश के क्षेत्रीय निदेशक राम करन सिंह ने कहा कि गोमती की धारा अविरल होनी चाहिये। इस अवसर पर पौधरोपण का भी संकल्प लिया गया। श्री शुभ संस्कार समति के महामंत्री ऋद्धि किशोर गौड़ ने निराशा प्रकट करते हुए कहा कि दीवार बना कर गोमती के भूगर्भ स्रोत बंद कर दिए गए हैं। समिति के कृष्णा नंद राय ने कहा कि सबको गोमती की चिंता करनी चाहिये। गोमती निर्मल होगी तो सब अपने आप ठीक हो जाएगा। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉ. एस पी एस राठौर, डी के सोनी, आर के सिंह, आशीष अग्रवाल, वी के सचान सहित कई लोगों ने श्रमदान का संकल्प लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko