DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुत्तों को पकड़ने के लिये बलरामपुर अस्पताल करेगा टेण्डर

-अस्पताल में कुत्तों की भरमार, मरीजों और तीमारदारों को बढ़ा खतरा

-निजी संस्था को कुत्ते पकड़ने के लिये टेण्डर करने की सोच रहा प्रशासन

राजधानी के जिला अस्पताल जिसे बलरामपुर अस्पताल के नाम से जाना जाता है। उसका प्रशासन परिसर में कुत्तों की भरमार से परेशान हो चुका है। यहां विभिन्न गैलरियों और वार्डों के अंदर तक आवारा कुत्तों की भरमार है। इलाज करवाने आने वाले मरीजों और उनके तीमारदारों को कुत्तों का डर सता रहा है।

इस समस्या से निपटने के लिए बलरापुर अस्पताल प्रशासन ने शासन को पत्र लिखा है। इस पत्र के माध्यम से अस्पताल प्रशासन ने परिसर से कुत्ते भगाने के लिए टेंडर करवाने की मांग की है। निदेशक डॉ राजीव लोचन ने बताया कि बलरामपुर अस्पताल परिसर में सैकड़ों आवारा कुत्ते घूमते हैं। इन कुत्तों के चलते अस्पताल में इलाज करवाने आए मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कई बार नगर निगम को पत्र लिखकर कुत्तों को पकड़ने के लिये आग्रह किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने यह भी बताया कि परिसर में बढ़ रही कुत्तों की संख्या की शिकायत रोजाना कई लोग उनके पास भी लेकर आते हैं। इस समस्या से निपटने के लिए अस्पताल प्रशासन टेंडर निकालने जा रहा है। इसकी अनुमति शासन को पत्र लिखकर मांगी गई है। अनुमति मिलते ही टेंडर निकाल दिया जाएगा, जिससे अस्पताल परिसर से आवारा कुत्तों को भगाया जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko