अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मचारी-शिक्षक आंदोलन की तैयारी में जुटे

कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा की तैयारियों को लेकर हुई समीक्षा बैठक

कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा की प्रान्तीय कार्यसमिति की सेतु निगम कार्यालय पर बुधवार को आयोजित बैठक में संयुक्त मोर्चा को दिये गये आन्दोलन की तैयारी की समीक्षा की गयी। अध्यक्ष वीपी मिश्रा ने बताया कि मोर्चे की लम्बित मांगों के समाधान के लिये आन्दोलन की नोटिस 20 फरवरी 2018 को प्रदेश सरकार और शासन को दी गयी थी जिस पर अभी तक कोई संज्ञान नहीं लिया गया और न ही मोर्चे के साथ कोई सम्वाद ही किया गया।

मोर्चे के साथ पूर्व में मुख्य सचिव के साथ हुई बैठक पर बनी सहमति पर जारी कार्यवृत्ति का अमल भी सम्बन्धित विभागों की ओर से नहीं किया गया। जिससे प्रदेश के कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है। यही कारण है कि प्रदेश के राज्य, निगम, निकाय, परिवहन विभाग, सिंचाई विभाग, वन विभाग, लोक निर्माण विभाग, शिक्षक, स्वास्थ्य विभाग एवं विश्वविद्यालय आदि सहित अन्य विभागों के कर्मचारी आन्दोलन की राह पर हैं। यदि समय रहते सरकार द्वारा कर्मचारियों की जायज मांगों का समाधान नहीं किया गया तो मोर्चे द्वारा घोषित इस ध्यानाकर्षण आन्दोलन के बाद प्रदेश व्यापी बड़ा आन्दोलन किया जाना संयुक्त मोर्चा की बाध्यता होगी। संयोजक सतीश पाण्डेय, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शशि कुमार मिश्र, मनोज मिश्र, अतुल मिश्र समेत कर्मचारी प्रतिनिधियों ने प्रदेश सरकार की ओर से विभागों में रिक्त पदों पर नियमित नियुक्ति न करने और खाली पड़े पदों पर पदोन्नति न करने, आउटसोर्सिंग का बढ़ावा देने की प्रक्रिया पर सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों पर नाराजगी प्रकट की।

प्रस्तावित आंदोलन का कार्यक्रम

-16 मार्च 2018 को प्रदेश की ईकाईयों द्वारा अपने-अपने जनपद के जिलाधिकारियों के माध्यम से मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन देना

-23 मार्च 2018 को लखनऊ स्थित जीपीओ पार्क, गांधी प्रतिमा पर एक विशाल धरना प्रदर्शन

-------------------------------------------

नगर निगम में आंदोलन की तैयारी शुरू

    आन्दोलन की तैयारी में उत्तर प्रदेश स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ की ओर से प्रदेश के निकायों के साथ-साथ लखनऊ नगर निगम के जोन-7 व जोन-4 में और बुधवार को जोन-6 व जोन-2 में अपील के माध्यम से गेट मीटिंग की गई। आन्दोलन को और प्रभावी करने हेतु तैयारियां शुरू कर दी गईं। मोर्चे ने चेतावनी दिवस के आन्दोलन का निर्णय लिया है जिसके लिये 16 मार्च को दोपहर एक बजे नगर निगम मुख्यालय पर संयुक्त मोर्चा के सभी घटक संगठनों के प्रतिनिधि और भारी संख्या में कर्मचारी इकट्ठा होकर शाम तीन बजे रैली के माध्यम से जिलाधिकारी को पूर्व घोषित आन्दोलन के क्रम में चेतावनी दिवस के रूप में मुख्यमंत्री को भेजे जाने वाला ज्ञापन प्रेषित किया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko