class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कथक केन्द्र ने सुझाव के लिए अभिभावकों को व्हाट्सग्रुप से जोड़ा

एसएनए में बदलाव

पहली बार शिक्षक और अभिभावकों की हुई बैठक

एसएनए सचिव हीरालाल ने की सकारात्मक पहल

केन्द्र के बच्चों को लाने ले जाने के लिए वाहन की सुविधा मिलेगी

संगीत नाटक अकादमी के सचिव हीरालाल ने अकादमी की गतिविधियों को बढ़ाने और कथक केन्द्र स्थिति को सुधारने के लिए शहर की सांस्कृतिक संस्थाओं एवं कथक प्रशिक्षुओं के अभिभावकों से सुझाव मांगे। यहां कथक केन्द्र में पहली शिक्षक और अभिभावक की बैठक भी आयोजित की गई। बैठक के बाद सचिव हीरालाल ने बताया कि केन्द्र से सम्बंधित शिकायत और सुक्षावों को मौके पर ही निस्तारण करने का प्रयास किया गया। कक्षाओं में जाली लगाने व फर्श से सम्बंधित कार्य एक सप्ताह में करा दिये जायेंगे। वहीं बच्चों को लाने ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था कराने के निर्देश दिये गये हैं। इसके साथ ही अभिभावकों को सुझाव व शिकायत तथा पर कार्रवाई के लिए एक व्हॉटसएप ग्रुप बना दिया गया है। बैठक में तया किया गया कि अकादमी और छात्रों के अभिभावक मिलकर लखनऊ कथक घराने के शास्त्रीय नृत्य का प्रशिक्षण देने वाले इस संस्थान को नई ऊंचाइयों पर पंहुचाने का प्रयास करेंगे। इस मौके पर अकादमी के प्रकाशन अधिकारी एसके गोपाल ने बताया कि कुरुक्षेत्र में हुए गीता महोत्सव में कथक केन्द्र की ओर से कथक बैले ‘कृष्णायन की प्रस्तुति देने वाले छात्रों ऐश्वर्या, शरण्या शुक्ला, प्रियम यादव को प्रशस्ति पत्र दिये गए।

सांस्कतिक संस्थाओं से हुआ संवाद

अकादमी के सभा कक्ष में शहर की सांस्कृतिक संस्थाओं को अकादमी से जोड़ने का प्रयास किया गया। राज्य की सांस्कृतिक विशिष्टताओं के संरक्षण व सवर्द्धन के लिए ये बैठक हुई। जिसमें नौटंकी, नाटक, पपेट, जादू सहित शास्त्रीय संगीत से लगभग दो दर्जन से अधिक संस्थाओं के प्रतिनिध शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko
लोनिवि मिनिस्टीरियल एसोसिएशन की बैठक आजपरीक्षा संबंधी गोपनीय सामग्री सेंटर हुई रवाना