class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब आवासीय का व्यवसायिक उपयोग करने वालों की खैर नहीं

-एलडीए उपाध्यक्ष और सचिव ने इंजीनियरों को दिये सख्त निर्देश

-निदेश दिये, आवासीय मकानों का व्यवसायिक उपयोग बिलकुल न हो

लखनऊ विकास प्राधिकरण के आवासीय मकानों में व्यवसायिक उपयोग करने वालों की खैर नहीं है। उपाध्यक्ष पीएन सिंह और सचिव एमपी सिंह ने इंजीनियरों को कड़े निर्देश जारी करते हुए ऐसी दुकानों को सील करने का आदेश दिया है जो आवासीय क्षेत्रों में नियमों की अनदेखी करते हुए खुलेआम चल रही हैं।

गुरुवार को ऐसे ही एक दुकान को एलडीए के अधिकारियों ने सील किया जो आवासीय मकान में चल रही थी। यह दुकान 1/9 विपुल खण्ड गोमतीनगर में पुनीत गोयल की ओर से संचालित थी। एलडीए पहले भी इनको चेतावनी दे चुका था लेकिन दुकान को बंद नहीं किये जाने पर अधिशासी अभियंता चक्रेश जैन, अवर अभियंता नरेन्द्र सिंह, विनोद गुप्ता मय एलडीए की फोर्स के साथ पहुंचे। उन्होंने इस दुकान को सील करने की कार्रवाई की। दुकानदार ने विरोध किया लेकिन पुलिस बल की मौजूदगी के कारण उसकी एक न चल सकी।

अब लाल पेंट से लिखा जायेगा 'यह अवैध निर्माण है और सील किया गया है'

अधिकतर एलडीए जिस मकान या दुकान को सील करती है वहां एक पट लगा देती है। जिसको लोग तोड़ देते हैं और वो दूर से दिखाई भी नहीं देते हैं। इस महीने से जिस मकान या दुकान को सील किया जायेगा उसपर एलडीए के अधिकारी लाल पेंट से लिखवायेंगे कि 'यह अवैध निर्माण है और सील किया गया है'। गुरुवार को सील किये गई अवैध दुकान पर लाल पेंट से लिखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko
बच्चों ने दिया पर्यावरण बचाने का संदेशरसूल की विलादत पर मनाया गया एकता सप्ताह