अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैजाबाद में गन्ना समिति निदेशक समेत तीन गैंगस्टरों को उम्रकैद

गन्ना समिति निदेशक समेत तीन गैंगस्टरों को उम्रकैद

कोर्ट का फैसला

वर्ष 2003 में बीडीसी सदस्य पद के चुनाव की रंजिश में हुई थी प्रत्याशी चन्द्रभान की हत्या

प्रत्येक गैंगस्टर आरोपित पर 15 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया

कड़ी सुरक्षा के बीच तीनों गैंगस्टर आरोपितों को जेल भेजा गया

फैजाबाद विधि संवाद

बीकापुर कोतवाली क्षेत्र में बीडीसी चुनाव की रंजिश को लेकर प्रत्याशी चन्द्रभान तिवारी पर तलवार और बांका से जानलेवा हमला कर हत्या के बहुचर्चित मामले में सपा नेता व गन्ना समिति मसौधा के डायरेक्टर महादेव यादव व उनके दो समर्थकों गंगाराम वर्मा और काशीराम यादव को आजीवन कारावास की सजा से दण्डित किया गया। साथ ही प्रत्येक गैंगस्टर आरोपित पर 15 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया।

यह फैसला विशेष गैंगस्टर न्यायाधीश हरिनाथ पाण्डेय ने गुरुवार को भारी अदालत में सुनाया। इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच तीनों गैंगस्टर आरोपितों को जेल भेजने का आदेश दिया। फैसले के पूर्व तीनों गैंगस्टर आरोपितों ने गुरुवार को न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था। घटना बीकापुर कोतवाली अन्तर्गत जेरूआ भावापुर गांव की 15 साल पूर्व वर्ष 2013 की है। अभियोजन पक्ष के मुताबिक 25 मई वर्ष 2003 की रात नौ बजे बीडीसी का चुनाव लड़ चुके पूर्व प्रत्याशी चन्द्रभान तिवारी अपनी आटा चक्की से घर जा रहे थे। तभीरास्ते में घात लगाकर बैठे गन्ना समिति मसौधा के डायरेक्टर महादेव यादव ने अपने दो अन्य साथियों गंगाराम व काशीराम के साथ चन्द्रभान तिवारी पर बांका और तलवार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया। पूर्व प्रत्याशी के घर न पहुंचने पर तलाश की गई तो उनकी लाश जेरुआ भावापुर के पास पड़ी थी। मृतक के भाई सूर्यभान तिवारी की तहरीर पर हत्या का यह मुकदमा बीकापुर कोतवाली में धारा 302 व गैंगस्टर एक्ट के तहत गन्ना समिति मसौधा के डायरेक्टर व सपा नेता महादेव यादव समेत तीन हत्यारों के खिलाफ दर्ज हुआ। मामले में आरोप पत्र आने के बाद वादी मुकदमा समेत आधा दर्जन से ज्यादा गवाहों को पेश किया गया। गवाही के बाद तीनों हत्याभियुक्तों पर गुरुवार को दोष सिद्ध कर आजीवन कारावास की सजा और 35 हजार रुपए जुर्माना किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Life imprisonment for three gangsters, including sugarcane committee director in Faizabad