अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेंदुए ने दो मवेशियों को मार डाला

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के निशान गाढ़ा रेंज से सटे कारीकोट गांव में घुसकर तेंदुए ने गुरुवार की भोर में दो मवेशियों को मार डाला। ग्रामीणों के शोर मचाने पर तेंदुआ जंगल की ओर चला गया। सूचना के काफी देर बाद वन महकमे की टीम पहुंची। लगातार हमले की वारदातों से लोगों में दहशत बनी हुई है।
सुजौली थाने के निशानगाड़ा रेंज के चौकी संख्या 8 से सटे कारीकोट गांव में गुरुवार की भोर राधेश्याम सिंह पुत्र बुधेराज सिंह के घर में बंधी बछिया को जंगल से निकल कर तेंदुए ने हमला कर मार डाला। जब तक ग्रामीण संभल पाते वहां से लगभग 100 मीटर दूरी पर स्थित मजरा आजमगढ़पुरवा में   बनारसी पुत्र नकछेद के घर में घुस कर तेंदुए ने बछड़े को मार डाला। बनारसी पुत्र नकछेद ने बताया कि बछड़े के चिल्लाने से भोर में उसकी आंख खुली तो देखा तेंदुआ बछड़े को नोच रहा है। तेंदुआ के कब्जे में बछड़े को देख उन्होंने चिल्लाना शुरू किया।
राधेश्याम के पुत्र गुल्लू ने बताया कि भोर में लगभग पांच बजे जंगल से निकले तेंदुए ने बाड़े में बंधी बछिया पर हमला कर खींच ले गया। उन्होंने बताया कि सुबह जब वो जानवरों को चारा देने उठे तो देखा कि बाड़े के समीप तेंदुआ बैठकर बछिया को खा रहा है। तेंदुए को देखते ही गुल्लू ने शोर मचाना शुरू किया, जिससे तेंदुआ गन्ने के खेत की ओर भाग गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना निशान गाढ़ा रेंज कार्यालय को दी। काफी देर बाद वन रक्षक फिरोज अहमद, वन वाचर पेशकार यादव के साथ वन टीम ने मौके पर पहुंच कर तेंदुए के हमले की पुष्टि की। कतर्नियाघाट क्षेत्र में आए दिन हो रहे तेंदुए के हमले से ग्रामीणों मे दहशत बनी हुई है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Leopard killed two cattle