अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में जुटे लेखपाल संघ के प्रदेश पदाधिकारी

हड़ताल के 11वें दिन उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की करीब-करीब पूरी प्रदेश कार्यकारिणी ने लखनऊ से आंदोलन का संचालन शुरू कर दिया है। शुक्रवार को संघ के प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य सभी बड़े पदाधिकारियों ने धरना दिया।

प्रदेश अध्यक्ष राममूरत यादव ने एलान किया कि जब तक मांगे पूरी नहीं होती , हड़ताल जारी रहेगी। सरकार जेल भेजे या कोई भी कार्रवाई करे लेखपाल पीछे हटने वाले नहीं। प्रदेश महामंत्री बृजेश श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार भूल रही है कि लेखपाल ही सरकार की सभी योजनाओं को लोंगों तक पहुंचाती है। धरने पर उपाध्यक्ष रामपूजन राम(पूर्वी) व दीपक त्यागी, संगठन मंत्री मनोज त्रिपाठी, सुदेश कुमार, विनोद कश्यप समेत अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

चार लेखपाल काम पर लौटे, संघ ने नकारा

प्रशासन का कहना है कि मलिहाबाद तहसील के चार प्रशिक्षु लेखपाल काम पर वापस आ गए हैं। एडीएम (प्रशासन) श्रीप्रकाश गुप्ता ने बताया कि एसडीएम ने रिपोर्ट है कि मलिहाबाद के चार प्रशिक्षु लेखपालों ने ड्यूटी ज्वाइन कर ली है। लेखपाल संघ के जिलाध्यक्ष सुशील शुक्ला ने प्रशासन के इस दावे का पुरजोर तरीके से खंडन किया है। उन्होंने कहा है कि प्रशासन लेखपालों के आंदोलन को कमजोर करने के लिए भ्रम फैला रहा है। उन्होंने दावा किया कि लखनऊ का एक भी प्रशिक्षु लेखपाल काम पर वापस नहीं लौटा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lekhpal sang