अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रंक सीवर लाइन व पम्पिंग स्टेशन की जमीन के लिए 40 करोड़ मांगे

एलडीए ने जमीन के लिए पैसा मांगा तो जल निगम ने कहा कि उसकी कालोनियों का सीवर भी गोमती में गिर रहा है, एसटपी, ट्रंक सीवर व पम्पिंग स्टेशन बनने से गंदा पानी गोमती में जाने से बचेगा

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

गोमती किनारे ट्रंक सीवर लाइन व सीवेज पम्पिंग स्टेशन के लिए जमीन देने के एवज में एलडीए ने जल निगम से 40.27 करोड़ रुपए मांगा है। एलडीए सचिव ने जल निगम की प्रदूषण नियंत्रण इकाई को पत्र लिखकर इस रकम की मांग की है। जल निगम व सिंचाई विभाग गोमती नदी में गिर रहे नालों के गंदे पानी को रोकने के लिए काम कर रहे हैँ। जल निगम ने एलडीए को यह रकम देने से मना कर दिया है। परियोजना प्रबंधक एसके यादव ने एलडीए उपाध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा है कि प्राधिकरण की योजनाओं का सीवेज गोमतीनदी में गिर रहा है। इसके बनने वे उसे भी फायदा होगा।

गोमती नदी तटबंध सुन्दरीकरण योजना के तहत सपा सरकार में नदी में गिर रहे नालों को रोकने का काम शुरू हुआ था। इसके लिए नदी के दोनों किनारों पर ट्रंक सीवर लाइन डाली गयी थी। ट्रंक सीवर लाइन का काम काफी दिनों से चल रहा है। कुछ जगहों पर जमीन न मिलने की वजह से काम अधूरा है। इसी तरह कुछ जगहों पेर सीवेज पम्पिंग स्टेशन का भी निर्माण भी होना है। इसके लिए जल निगम को कुछ जमीन की जरुरत है। यह जमीन एलडीए की बतायी जा रही है। जल निगम ने इसके लिए एलडीए से जमीन मांगी थी।सिस गोमती क्षेत्र की तरफ बंधे के किनारे जियामऊ के पास 1.50 हेक्टेयर तथा ट्रांसगोमती की तरफ 1.0125 हेक्टेयर जमीन मांगी गयी थी। लेकिन एलडीए सचिव ने 27 फरवरी 2018 को जल निगम को पत्र लिखकर जमीन के लिए 40.27 करोड़ रुपए की मांग की थी। जल निगम ने पैसा देने से मना किया है।

-------------

जल निगम ने कहा एलडीए के सीवेज का भी होगा निस्तारण

जल निगम ने एलडीए उपाध्यक्ष को लिखे पत्र में साफ किया है कि ट्रंक सीवेज लाइन, सीवेज शोधन संयंत्र की स्थापना से एलडीए को भी फायदा मिलेगा। क्योंकि अभी एलडीए की कालोनियों का भी सीवेज गोमतीनदी में गिर रहा है। उन्होंने लिखा है कि एलडीए की अलीगंज, निरालानगर, महानगर, महानगर विस्तार सहित कई कालोनियों का सीवर नदी में गिर रहा है। भविष्य में एलडीए की नयी विकसित होने वाली कालोनी बसंतकुंज व घैला का भी सीवेज गोमती नदी में आएगा। इसके बनने से इस सीवेज को भी गोमती में जाने से रोका जा सकेगा।

-

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lda