DA Image
25 जनवरी, 2020|4:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संदेश यात्रा में किसान आयोग के गठन की मांग

कांग्रेस की महात्मा गांधी किसान यात्रा पहले पड़ाव के आखिरी चरण में रविवार को गोसाईंगंज पहुंची। यहां किसान महापंचायत का आयोजन किया गया जिसमें विधायक अराधना मिश्रा मुख्य अतिथि थीं। इस मौके पर किसान यात्रा के दौरान उठाई गई मांगों को विधान सभा में रखने का विधायक ने आश्वासन दिया।

जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी के नेतृत्व में किसान यात्रा गोसाईंगंज के बस्तिया गांव पहुंची। पूरी किसान पदायात्रा के दौरान 160 गांवों में चौपाल लगाई गईं। जिला महासचिव मनोज शुक्ला ने बताया कि किसान संदेश यात्रा के साथ 12 सूत्री मांगपत्र भी बनाया गया। इसमें राज्य किसान आयोग का गठन करने, मनरेगा के तहत न्यूनतम मजदूरी और कार्य दिवस बढ़ाने, तालाबों और ग्राम पंचायत की जमीन कब्जा मुक्त करने, किसान भंडारण की उचित व्यवस्था करने, कर्जमाफी में हो रही गड़बड़ी रोकने, ग्रामीण स्तर पर अनाज क्रय और विक्रय मंडियां स्थापित करने, कृषि शिक्षा को प्राथमिक स्कूल तक जरूरी करने, बिजली की दर कृषि उपयोग के लिए घटाने, फसल बीमा के नाम पर निजी कंपनियों का लाभ बंद करने आदि की मांग की गई।

बिजली पानी के लिए तरस रहा किसान-अराधना मिश्रा

विधायक अराधना मिज्ञा ने कहा कि किसान बिजली और पनी के लिए तरस रहे हैं। आवारा मवेशी की समस्या बढ़ती जा रही है जो फसलों को तबाह कर रहे हैं। यदि किसान दुखी होगा तो समाज विकास नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों के हितों के लिए संघर्ष करती रहेगी।