DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला के जबड़े से निकाला डेढ़ किलो का ट्यूमर

- केजीएमयू ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल विभाग के डॉक्टर ने बचाई जान लखनऊ। निज संवाददाता केजीएमयू के डॉक्टरों ने एक महिला की जान बचाई है। इस महिला के जबड़े से डेढ़ किलो का ट्यूमर निकालने में डॉक्टरों ने सफलता पाई है। मरीज अब स्वस्थ है। केजीएमयू ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल विभाग के डॉ. यूएस पाल ने डॉक्टरों की टीम के साथ यह ऑपरेशन किया। डॉ. यूएस पाल ने बताया कि कुशीनगर की संगीता (40) के जबड़े के निचले हिस्से में करीब डेढ़ किलो का ट्यूमर था। लगभग 23 सेंटीमीटर का यह ट्यूमर संगीता के तालू को छू रहा था। जिससे जीभ मुंह के अंदर पीछे की ओर जा रही थी। इससे मरीज को करीब तीन माह से सांस लेने में दिक्कत थी। ट्यूमर काफी बड़ा होने से मरीज को बेहोशी देने में बहुत दिक्कत हुई। एनेस्थीसिया के डॉ. सतीश धस्माना ने नाक के रास्ते से ट्यूब डालकर मरीज को बेहोश किया। डॉ. पाल ने बताया कि बायोप्सी करवाने पर पता चला कि फाइब्रोमा था। संगीता को डेनीजेन ट्यूमर की शिकायत थी। उसे कैंसर नहीं था। संगीता अब स्वस्थ है। सांस लेने में उसे किसी तरह से दिक्कत नहीं आ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kgmu