अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर देखा नहीं पराजय का जानी थी उसने केवल जय.....

- केकेसी इंटर कॉलेज सभागार में स्व. अटल जी की मासिक पुण्यतिथि पर हुआ काव्यांजलि समारोह लखनऊ। निज संवाददाता जननायक पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की याद में रविवार को काव्यांजलि समारोह का आयोजन किया गया। केकेसी इण्टर कॉलेज में कैबिनेट मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने स्व. वाचपेयी की मासिक पुण्यतिथि पर यह आयोजन कराया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रख्यात कवि सोम ठाकुर ने की। उन्होंने स्व. अटल बिहारी को समर्पित पंक्तियां ‘घर देखा नहीं पराजय का, जानी थी उसने केवल जय, हिन्दू तन-मन, हिन्दू जीवन, रग रग हिन्दू जिसका परिचयसुनाई तो सभागार तालियों से गूंज उठा।कार्यक्रम का संचालन कर रहे इलाहाबाद से आए कवि प्रद्युम्न नाथ तिवारी ‘करुणेश ने ‘राजनीति का कोहनूर अब कहां मिलेगा, चला गया हमसे सुदूर अब कहां मिलेगा। पंक्तियां सुना कर लोगों को भावविभोर कर दिया। इसके पूर्व सुविख्यात भजन गायिका विभा सिंह ने स्व. अटल बिहारी की कविताओं ‘ठन गई मौत से ठन गई, ‘क्या खोया क्या पायाआदि की संगीतबद्ध प्रस्तुति दी। इस मौके पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय हिन्दी विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. राम किशोर शर्मा ने मंच से स्व. अटल बिहारी के आदर्शों पर चलने की लोगों से अपील की। समारोह में अटल जी के गीतों की गायक विभा ने मंच से प्रस्तुति दी। इस मौके पर मुख्य वक्ता इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. राम किशोर शर्मा ने स्व. अटल के आदर्शों पर चलने की लोगों से अपील की। साथ ही कहा कि उनकी कविताएं कृत्रिम नहीं हैं। उनमें जो शब्द होते थे वे उनके मन से निकले उद्गार थे। यहां पर कवि शिव भूषण त्रिपाठी, पार्षद सुशील तिवारी पम्मी व हर्षित दीक्षित व अन्य भाजपा नेता मौजूद रहे। विश्व के लिए आदर्श थे कैबिनेट मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि स्व. अटल बिहारी वाचपेयी मानव चेतना और राजनीति में सामंजस्य स्थापित करने वाले व्यक्ति थे। वह समूचे विश्व के लिए आदर्श थे। भाजपा के नगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा ने पूर्व प्रधानमंत्री की प्रसिद्ध कविता ‘हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा से सम्बोधन की शुरुआत करते हुए उनके जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला। नोएडा से विधायक पंकज सिंह ने कहा कि स्व. अटल बिहारी युवाओं के लिए प्रेरणा थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kavyanjali samaroh