DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैराना लोकसभा व नूरपुर विधानसभा उपचुनाव के नतीजे आज

-कैराना लोस सीट पर मुकाबला भाजपा की मृगांका सिंह व रालोद की तबस्सुम हसन के बीच-नूरपुर विस सीट पर भाजपा की अवनि सिंह व सपा के नईमुल हसन के बीच है जोर आजमाईश-कैराना लोस सीट की मतगणना दो जिलों सहारनपुर व शामली में होगी, नूरपुर की बिजनौर जिले में विशेष संवाददाता-राज्य मुख्यालयप्रदेश की कैराना लोकसभा और नूरपुर विधान सभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे गुरुवार 31 मई को घोषित होंगे। केन्द्रीय चुनाव आयोग ने इन दोनों सीटों पर मतगणना के लिए सभी जरूरी इंतजाम बुधवार की शाम तक पूरे कर लिये थे। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार कैराना लोकसभा के सहारनपुर जिले की नकुड़ व गंगोह विधान सभा की मतगणना सहारनपुर में और शामली की तीन विधान सभाओं शामली, कैराना और थाना भवन की मतगणना शामली में करवाई जाएगी। नूरपुर विधान सभा के उपचुनाव की मतगणना बिजनौर जिले में करवाई जाएगी। इस मतगणना के लिए सुरक्षा बलों की भी तैनाती की गई है।कैराना लोकसभा सीट भाजपा के सांसद हुकुम सिंह के इसी साल फरवरी में बीमारी के चलते हुए निधन की वजह से खाली हुई थी। इसी तरह बिजनौर की नूरपुर विधान सभा सीट भाजपा के विधायक लोकेन्द्र सिंह चौहान की सड़क दुर्घटना में हुई मृत्यु की वजह से खाली हुई।2014 में हुए लोकसभा चुनाव में कैराना सीट पर भाजपा के हुकुम सिंह जीते थे। हुकुम सिंह को इस चुनाव में कुल 5 लाख 65, 909 मत मिले थे जबकि सपा की नाहिद हसन दूसरे नम्बर पर रही थीं और उन्हें 3 लाख 29081 वोट मिले थे। बसपा के कुंवर हसन तीसरे स्थान पर आए थे और उन्हें 1 लाख 60444 वोट मिले थे। इस बार इस सीट पर भाजपा से हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह प्रत्याशी हैं जबकि रालोद से तबस्सुम हसन मैदान में हैं जिन्हें सपा, बसपा और कांग्रेस का समर्थन भी प्राप्त है। मुकाबला मुख्यत: इन्हीं दोनों उम्मीदवारों के बीच है। कैराना लोकसभा और नूरपुर विधान सभा सीटों पर इस बार पिछले चुनाव के मुकाबले कम मतदान हुआ है। कैराना लोकसभा सीट पर 54.17 प्रतिशत मतदान हुआ। वर्ष 2014 में यहां 73.05 प्रतिशत मतदान हुआ था। नूरपुर विधान सभा में इस बार 61 प्रतिशत वोट पड़े जबकि 2017 में आम चुनाव में 66.82 प्रतिशत मतदान हुआ था। कैराना लोस सीट के 73 पोलिंग बूथों पर 61 प्रतिशत हुआ पुनर्मतदान-फिर खराब हुईं चार वीवीपैटविशेष संवाददाता-राज्य मुख्यालयकैराना लोकसभा सीट के 73 पोलिंग बूथों पर बुधवार को 61 प्रतिशत पुनर्मतदान हुआ। इन 73 में से 68 पोलिंग बूथ सहारनपुर के थे और पांच पोलिंग बूथ शामली के थे। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार इस पुनर्मतदान के दौरान इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन की एक बैलेट यूनिट और चार स्थानों पर वीवीपैट खराब होने की शिकायतें आई जिन्हें तत्काल बदल दिया गया। इस पुनर्मतदान के लिए 10 कंपनी अद्धसैनिक बल भी तैनात किया गया था। 28 मई को हुए मतदान के दौरान कैराना लोस क्षेत्र के कई मतदान केन्द्रों पर वीवीपैट खराब हुई थीं जिससे मतदान बाधित हुआ था। चुनाव आयोग ने शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए जहां-जहां वीवीपैट की खराबी के चलते दो घण्टे से ज्यादा समय तक मतदान प्रभावित हुआ ,वहां पुर्नमतदान का फैसला किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kairana