अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईटीआई: एनटीसी सार्टिफिकेट के नोटिफिकेशन का इंतजार

प्रदेश के 90 हजार छात्रों का भविष्य अधर में

आईटीआई से प्रशिक्षण प्राप्त कर रोजगार से जुड़ने के लिए प्रदेश के हजारों छात्र इंतजार कर रहे हैं। इसके लिए छात्रों को अक्टूबर में परीक्षा देनी है, लेकिन डीजीटी(रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय) ने अभी तक कोई अधिसूचना(नोटिफिकेशन) जारी नहीं की है। छात्र बेसब्री से इसका इंतजार कर रहे हैं। रोजगार एवं प्रशिक्षण निदेशालय अपर निदेशक की मानें तो एनसीवीटी(राज्य सरकार के अधीन पाठ्यक्रम) से प्रशिक्षण लेने वाले छात्र इस बार एनटीसी(नेशनल ट्रेड सार्टिफिकेट) ले सकेंगे।

छात्रों की दुश्वारी यह है कि छात्रों को उद्योगों में ट्रेनिंग करने के लिए भी एनटीसी सार्टिफिकेट की आवश्कता पड़ती है। वहीं, बिना एनटीसी सार्टिफिकेट के छात्र कहीं नौकरी भी नहीं कर पा रहे हैं। विभागीय अधिकारियों की मानें तो आईटीआई में काफी समय पहले यह व्यवस्था डीजीटी की ओर से मौजूद थीं, लेकिन बाद में इस व्यवस्था में कुछ बदलाव के चलते इसको बंद कर दिया गया है। इसके लिए 750 रुपये फीस जमा होती थी। करीब दो साल पहले इस व्यवस्था को बंद कर दिया गया है।

फिलहाल, अभी डीजीटी ने इस व्यवस्था को फिर से शुरू करने के लिए कोई भी अधिसूचना जारी नहीं की है। अधिकारियों की मानें तो जल्द ही इसके लिए अधिसूचना जारी होगी। पूरे प्रदेश में एससीवीटी के करीब 90 हजार छात्रों को इससे लाभ मिलना है।

छात्रों को नहीं है जानकारी

एससीवीटी छात्रों की मानें तो जब यह व्यवस्था मौजूद थीं, तब भी उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं थी। इसकी परीक्षा कब और कैसे होती है, संस्था के प्रधानाचार्य से लेकर अनुदेशकों ने भी इसकी जानकारी नहीं दी। छात्रों ने बताया कि सरकारी से लेकर प्राइवेट विभाग में एससीवीटी सार्टिफिकेट की कोई मान्यता ही नहीं है। नौकरी पाने के लिए कंपनियां एनटीसी सार्टिफिकेट मांग रही हैं।

सीटीएस ट्रेनिंग तक नहीं कर पा रहे छात्र

आईटीआई पास छात्रों को सीटीएस(क्राफ्टमैन ट्रेनिंग स्कीम) ट्रेनिंग मिलती है। यह ट्रेनिंग पूरी करने के बाद ही छात्र अनुदेशक बन सकते हैं। लेकिन, एससीवीटी छात्र खुद आईटीआई पास करने के बाद ट्रेनिंग में शामिल नहीं हो रहे हैं। वहीं, छात्रों की मानें तो उन्हें यह जानकारी ही नहीं दी जाती कि एससीवीटी के छात्र सीटीएस ट्रेनिंग नहीं कर सकते हैं।

-कोट-

डीजीटी की अधिसूचना का इंतजार है। निर्देश जारी होने के बाद ही एससीवीटी छात्र परीक्षा में बैठ सकेंगे। फिलहाल, छात्रों की ट्रेनिंग के बाद परीक्षा कराकर सार्टिफिकेट दिया जाता है।

एससी तिवारी, जेडी, आईटीआई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ITI