अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अयोध्या में बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी को जान का खतरा

इकबाल अंसारी को जान का खतरा, मांगी सुरक्षा

इन दिनों अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर देश की सबसे बड़ी अदालत में चल रहे मुकदमे और सुनवाई के दौर के बीच इस विवाद को कोर्ट के बाहर हल करने के प्रयास भी तेज हो गए हैं। बीते कुछ महीनों के घटनाक्रम में शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड व राष्ट्रीय मुस्लिम मंच सहित तमाम ऐसे मुस्लिम संगठन के नेता सामने आए हैं जिन्होंने इस विवाद के हल के लिए समाज के दोनों वर्गों को एक साथ बैठा कर बात करने की वकालत की है। आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर भी बीते दिनों अयोध्या आकर पक्षकारों से मिल चुके हैं। एक बार फिर से आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर 20 फरवरी को अयोध्या आने वाले हैं। ऐसे में इस विवाद पर एक बार फिर से सरगर्मी बढ़ने वाली है।

इन सब कवायदों के बीच अयोध्या में बाबरी मस्जिद मामले के मुद्दई रहे मरहूम हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी को खुद की जान का खतरा महसूस होने लगा है। श्री अंसारी ने कहा कि अयोध्या में मंदिर- मस्जिद के विवाद के हल के लिए तमाम लोग उनसे मिलने के लिए आ रहे हैं। ऐसे में उनके पास मौजूद सुरक्षा व्यवस्था पर्याप्त नहीं है। इसलिए उन्हें और सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराई जानी चाहिए। गुरुवार को बाबरी मामले के पक्षकार इकबाल अंसारी ने प्रदेश सरकार को सम्बोधित एक ज्ञापन लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने जिलाधिकारी डॉ. अनिल कुमार पाठक से मुलाकात कर अपनी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की।

जिलाधिकारी से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि एकमात्र सुरक्षाकर्मी ही उनकी सुरक्षा में तैनात है। इन दिनों अयोध्या विवाद के हल के लिए तमाम लोग उनसे मिलने के लिए आते रहते हैं। ऐसे में उनकी जान को खतरा भी हो सकता है। इसलिए उनकी सुरक्षा और बढ़ा दी जाए। बताते चलें कि इकबाल अंसारी के वालिद हाशिम अंसारी के जिंदा रहते उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को उनके इंतकाल के बाद हटा दिया गया था। इसको लेकर इकबाल अंसारी ने गहरी आपत्ति जताई थी और स्वयं को मुकदमे का पक्षकार बताते हुए सुरक्षा मांगी थी। इसके बाद उन्हें एक सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Iqbal Ansari's life threat in Ayodhya