DA Image
29 फरवरी, 2020|2:58|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिम्मेदारों ने नही सुनी तो प्रधान पति के साथ ग्रामीणों ने खुद सम्भाला सफाई का मोर्चा

default image

निगोहां। हिन्दुस्तान संवाद

बीते छह माह से निगोहा गांव में फैली गंदगी की ओर जब अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया तो शुक्रवार को गांव की प्रधान के पति सुरेंद्र दीक्षित ने स्वयं ही सफाई का मोर्चा संभाल लिया। फावड़ा लेकर बजबजाती नालियों की सफाई खुद ही शुरू कर दी। यह देखकर गांव के आशीष, राकेश यमुना भी सफाई अभियान में जुट गए।

मोहनलालगंज की निगोहा पंचायत की महिला प्रधान दीपा दीक्षित ने बताया कि उनकी पंचायत में दो सफाई कर्मियों की तैनाती हुई थी। बीते छह माह से एक भी सफाईकर्मी झांकने तक नहीं आया। गांव से लेकर कस्बे तक गंदगी एक अम्बार लगा है। कई बार पंचायत घर से लेकर स्कूलों की सफाई दिहाड़ी मजदूरों से कराई। ब्लाक में शिकायत की लेकिन कुछ नहीं हुआ। शुक्रवार को बजबजाती नालियों को देखकर प्रधान पति सुरेंद्र दीक्षित ने सफाई शुरू कर दी। यह देखकर गांव के आशीष, राकेश यमुना भी सफाई अभियान में जुट गए। एडीओ पंचायत कमल शुक्ला ने बताया कि दिसम्बर में अधिकतर सफाई कर्मियों की डियूटी एक्सपो में लगा दी गई थी। अब खाली हो गए। गांवों में सफाई शुरू होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:If the responsibilities did not listen the villagers along with the head husband managed to clean themselves