ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊअवैध कॉलोनी बनाने वाले प्रॉपर्टी डीलर का मकान छोड़ा, गरीबों के ध्वस्त कर दिए

अवैध कॉलोनी बनाने वाले प्रॉपर्टी डीलर का मकान छोड़ा, गरीबों के ध्वस्त कर दिए

एलडीए इंजीनियरों की बिल्डरों, प्रॉपर्टी डीलरों पर मेहरबानी का ताजा मामला सामने आया है। चिनहट में अवैध कॉलोनी और उसे विकसित करने वाले प्रॉपर्टी डीलर...

अवैध कॉलोनी बनाने वाले प्रॉपर्टी डीलर का मकान छोड़ा, गरीबों के ध्वस्त कर दिए
हिन्दुस्तान टीम,लखनऊMon, 25 Sep 2023 09:50 PM
ऐप पर पढ़ें

एलडीए इंजीनियरों की बिल्डरों, प्रॉपर्टी डीलरों पर मेहरबानी का ताजा मामला सामने आया है। चिनहट में अवैध कॉलोनी और उसे विकसित करने वाले प्रॉपर्टी डीलर के मकान व निर्माण को छुआ तक नहीं। गरीबों की बाउंड्रीवाल व टिनशेड समेत सब कुछ ध्वस्त कर दिया। इससे लोगों में भारी आक्रोश है।

चिनहट में प्रॉपर्टी डीलर राजेश कुमार पाण्डेय ने अवैध तरीके से गंगा विहार कॉलोनी विकसित की है। खुद यहां हाल ही में दो मकान बनाए थे। एलडीए की विहित प्राधिकारी प्रिया सिंह ने 20 मई को कॉलोनी के अवैध निर्माणों के साथ उसके मकानों को भी ध्वस्त करने का आदेश दिया था। सोमवार को एलडीए के सहायक अभियंता अवधेश कुमार, अवर अभियंता सुरेंद्र द्विवेदी तथा सत्यवीर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। प्रॉपर्टी डीलर-बिल्डर के मकान को छुआ तक नहीं, जबकि दर्जनों गरीबों के निर्माण ध्वस्त कर दिए। टिन शेड बनाकर रह रहे लोगों का आशियाना तोड़ दिया।

बिल्डर का मकान और टाउनशिप गिराने का हुआ था आदेश

एलडीए की विहित प्राधिकारी प्रिया सिंह ने 20 मई 2023 को दिए आदेश में लिखा है कि 23 मई 2022 को विहत प्राधिकारी की कोर्ट में मामले का वाद पंजीकृत किया गया। कारण बताओ नोटिस जारी हुए। बिल्डर ने कोई स्वीकृत लेआउट नहीं दिखाया। 26 मई 2022 को पुलिस उपायुक्त को निर्माण तथा विकास रोकने का एलडीए ने पत्र लिखा। इसके बावजूद प्रॉपर्टी डीलर अनधिकृत रूप से निर्माण करता रहा। 26 जुलाई 2022 को सील करने का आदेश हुआ। फिर भी वह मकान बनाता रहा। इस मामले में जोनल अधिकारी प्रिया सिंह से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन नहीं उठा।

कोट

इस तरह का भेदभाव नहीं किया जा सकता है। प्रॉपर्टी डीलर का भी अवैध निर्माण तोड़ा जाएगा। मंगलवार को ही टीम भेजी जाएगी। जिन लोगों ने प्रॉपर्टी डीलर का अवैध निर्माण बचाया है, उनसे स्पष्टीकरण भी मांगा जाएगा।

डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी, उपाध्यक्ष, एलडीए

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।