DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलरामपुर में डीएनबी कोर्स के लिये टीम ने किया निरीक्षण

-मानकों पर खरा उतरने पर मिलेगी कोर्स की मान्यता

-दो घंटे तक अस्पताल के विभिन्न वार्डों का किया निरीक्षण

बलरामपुर अस्पताल में शनिवार को डिप्लोमेट ऑफ नेशनल बोर्ड (डीएनबी कोर्स) की मान्यता के लिए एक सदस्यीय टीम ने दौरा किया। टीम के सदस्य ने ओटी, वार्ड और बेड की उपलब्धता समेत अन्य मानकों को देखा। करीब दो घंटे तक टीम ने पूरे अस्पताल का निरीक्षण किया। अब टीम कोर्स की मान्यता के लिये अनमुति देगा।

निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि डीएनबी के सदस्य ने मान्यता के लिए अस्पताल का सर्वे किया है। सकारात्मक रिपोर्ट आने बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी। नेशनल हेल्थ मिशन के तहत सरकारी अस्पतालों में डीएनबी पाठ्यक्रम शुरु करने की कार्रवाई चल रही है। बलरामपुर अस्पताल में पांच विभागों में डीएनबी पाठ्यक्रम शुरु किया जाना है। इनमें मेडिसिन में चार सीटें, सर्जरी चार, ईएनटी, पैथोलॉजी व एनेस्थिसियां में दो-दो सीटों के लिए अस्पताल प्रशासन की ओर से आवेदन किया गया था। डीएनबी की टीम ने शनिवार को अस्पताल का निरीक्षण करके पूरी व्यवस्था को परखा। पूरी रिपोर्ट संबंधित अधिकारियों को भेजी है। वहां से अनुमति मिलने बाद यहां पर डीएनबी पाठ्यक्रम शुरू होगा।

सिविल अस्पताल में अभी भी कोर्स शुरू होने का इंतजार

सिविल अस्पताल में भी डीएनबी की टीम निरीक्षण कर चुकी है लेकिन अस्पताल प्रशासन की मानें तो वहां भी अभी तक डीएनबी कोर्स शुरू करने की कार्रवाई नहीं शुरू हो पाई है।

डीएनबी कोर्स

स्वास्थ्य सुविधाओं में अत्याधिक सुधार करने और आम जनमानस को गुणवत्तापूर्ण सेवाएं सहज सुलभ कराने के लिये डीएनबी कोर्स शुरू करने का निर्णय सरकार ने लिया है। प्रदेश के सरकारी चिकत्सालयों में विशेषज्ञ चिकत्सिकों की कमी और मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकत्सिक भी अच्छी संख्या में नहीं तैयार हो पा रहे है। इसको देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था की आवश्यकता के रूप में प्रदेश के जनपद स्तरीय चिकित्सालयों में डीएनबी. विशेषज्ञ कोर्स प्रारम्भ किये जा रहे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:hospital