अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब 'ई-स्ट्रेचर' पर एक से दूसरे वार्ड शिफ्ट होंगे मरीज

बलरामपुर अस्पताल की पहल

-इमरजेंसी और ओपीडी से न्यू बिल्डिंग के वार्डों तक मरीजों को ले जाना होगा आसान

-परिसर में आने वाले विकलांग जनों के लिये ई-रिक्शा भी मंगाया गया, राहत मिलेगी

बलरामपुर अस्पताल में ओपीडी और इमरजेंसी से वार्डों में भर्ती होने वाले मरीजों को अब परेशान नहीं होना पड़ेगा। उनके लिये अस्पताल परिसर में वार्डों में शिफ्ट होने के लिये 'ई-स्ट्रेचर' की व्यवस्था की गई है। साथ में विकलांग मरीजों के लिये ई-रिक्शा भी मंगाया गया है। यह दोनों कार्य मुख्य सचिव राजीव कुमार के निर्देश पर किये गये हैं। इसका शुभारंभ मंगलवार से किया गया।

अस्पताल के निदेशक डॉ राजीव लोचन ने बताया कि इस तरह का प्रयास परिसर में पहली बार किया गया है। इससे मरीजों को काफी राहत मिलेगी। अभी तक ओपीडी और इमरजेंसी में इलाज कराने के बाद रोगियों को स्ट्रेचर घसीटकर ले जाते देखा जाता था। ओपीडी और इमरजेंसी से न्यू बिल्डिंग तक काफी दूरी है। स्ट्रेचर घसीटकर ले जाने में तीमारदारों को काफी दिक्कत होती थी और मरीज की भी तकलीफ बढ़ जाती थी। इसलिये ई-रिक्शा को ई-स्ट्रेचर का रूप दिया गया है। इसमें एक स्ट्रेचर फिट किया गया है। ये ओपीडी और इमरजेंसी के बाहर रहेगा। गंभीर मरीजों को उनके वार्डों तक पहुंचाने में मदद करेगा। इसी प्रकार से अस्पताल में इलाज कराने वाले विकलांग मरीजों के लिये एक ई-रिक्शा परिसर में रहेगा। जो उनको वार्डों तक ले जाने में मदद करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:hospital