DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  केजीएमयू-लोहिया में कूल्हा-घुटना प्रत्यारोपण शुरू
लखनऊ

केजीएमयू-लोहिया में कूल्हा-घुटना प्रत्यारोपण शुरू

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:20 PM
केजीएमयू-लोहिया में कूल्हा-घुटना प्रत्यारोपण शुरू

कोरोना संक्रमण की वजह से करीब दो महीने से ठप था इलाज

लोहिया संस्थान में गुर्दा प्रत्यारोपण भी शुरू हुआ

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

हड्डी के ऑपरेशन व गुर्दा प्रत्यारोपण की आस में बैठे मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। केजीएमयू में कूल्हा-घुटना समेत हड्डी की दूसरी बीमारी के ऑपरेशन शुरू हो गए हैं। वहीं लोहिया संस्थान में हड्डी के ऑपरेशन संग गुर्दा प्रत्यारोपण भी चालू हो गया है। अभी गुर्दा प्रत्यारोपण के लिए छह महीने की वेटिंग चल रही है।

कोरोना संक्रमण की वजह से अस्पतालों में हड्डी सिर्फ इमरजेंसी में ही ऑपरेशन हो रहे थे। सामान्य ऑपरेशन टाले जा रहे थे। इसकी वजह से मरीजों को खासी दुश्वारियां झेलनी पड़ रही थीं। मरीज प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराने को मजबूर थे। अब संक्रमण की रफ्तार थम रही है। ऐसे में इलाज की गाड़ी पटरी पर आ रही है।

केजीएमयू

मार्च से कूल्हा-घुटना प्रत्यारोपण बंद था। मरीजों की हड्डी संबंधी सामान्य ऑपरेशन भी ठप थे। मरीजों के अब हड्डी सम्बंधी सभी ऑपरेशन हो सकेंगे। यह ऑपरेशन शताब्दी भवन में होंगे। लिंब सेंटर में कोविड अस्पताल होने से दो ऑपरेशन थिएटर शताब्दी भवन में दिए गए हैं। डॉक्टरों के मुताबिक कूल्हा व घुटना प्रत्यारोपण के लिए मरीजों को तीन से चार महीने बाद की तारीख दी जा रही थी। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक वेटिंग खत्म करने के लिए ज्यादा से ज्यादा ऑपरेशन डॉक्टर कर रहे हैं। कोविड प्रोटोकाल का पालन कर ऑपरेशन शुरू किए गए हैं।

लोहिया संस्थान

संस्थान में गुर्दा प्रत्यारोपण सामान्य दिनों की भांति शुरू कर दिए गए हैं। बीते दो महीने से गुर्दा प्रत्यारोपण प्रभावित था। सिर्फ गंभीर अवस्था में आने वाले मरीजों का ही प्रत्यारोपण हो रहा था। प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह के मुताबिक हड्डी से जुड़े ऑपरेशन किए जा रहे हैं। कूल्हा व घुटना प्रत्यारोपण शुरू कर दिया गया है। गुर्दा प्रत्यारोपण की प्रक्रिया भी तेज कर दी गई है।

संबंधित खबरें