DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईपावर कमेटी में शिक्षामित्र प्रतिनिधि को शामिल करने की मांग

विशेष संवाददाता-राज्य मुख्यालय

शिक्षामित्रों ने मुख्यमंत्री द्वारा बनाई हाईपावर कमेटी में शिक्षामित्र प्रतिनिधि को भी शामिल करने की मांग उठाई है। वहीं अगस्त तक कोई सकारात्मक फैसला न होने पर शिक्षामित्र 5 सितम्बर यानी शिक्षक दिवस को काला दिवस के तौर पर मनाएंगे और लखनऊ में एकत्रित होंगे।

प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के प्रदेश मंत्री कौशल कुमार सिंह ने कहा है कि उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में बनी कमेटी में 1.70 लाख शिक्षामित्रों का भविष्य तय किया जाना है लेकिन इसमें शिक्षामित्रों का कोई प्रतिनिधि नहीं है। यदि इसमें हमारा प्रतिनिधि होगा तो शिक्षामित्रों की दिक्कतों को सरकार को समझने में आसानी होगी। 25 जुलाई को लखनऊ में महिला शिक्षामित्रों समेत कई शिक्षामित्रों ने मुंडन कराकर सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया था। इसका संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उप मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी बनाई है जो एक महीने में अपनी रिपोर्ट सरकार को देगी।

वहीं दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार यादव ने कहा है कि यदि अगस्त के अंतिम हफ्ते तक राज्य सरकार फैसला नहीं लेती तो शिक्षामित्र राजधानी के इको गार्डन में पहुंच कर प्रदर्शन करेंगे। शिक्षक दिवस को शिक्षामित्र काला दिवस के रूप में मनाएंगे। उन्होंने कहा है कि शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित किया जाए या उनकी सेवाएं बेहतर मानदेय के साथ 12 महीना 62 वर्ष तक सुरक्षित की जाए। यदि ये फैसला नहीं होता तो शिक्षामित्र आंदोलन करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:high power commetiee