DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › लखनऊ › सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने के लिए आईआईएम से ली जाएगी मदद
लखनऊ

सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने के लिए आईआईएम से ली जाएगी मदद

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:30 PM
सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने के लिए आईआईएम से ली जाएगी मदद

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर के निर्माण के लिए आईआईएम लखनऊ व अन्य तकनीकी संस्थानों से मदद ली जाएगी। लखनऊ में देश का सबसे बड़ा व अच्छा सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने की तैयारी है। लॉजिस्टिक सेन्टर तक वाहनों के आने जाने के लिए नया कारिडोर भी बनाया जाएगा। मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद एलडीए ने इस दिशा में काम शुरू कराया है।

राजधानी में सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने की कवायद शुरू हो गयी है। शासन ने इसके लिए एलडीए को नोडल एजेन्सी नामित किया है। सिटी लॉजिस्टिक प्लान तैयार करने की जिम्मेदारी समन्वय समिति को दी गयी है। समिति ने काम शुरू कर दिया है। सिटी लॉजिस्टिक के लिए जमीन की तलाश तेजी से चल रही है। सबसे अच्छा, सुविधाजनक तथा आकर्षक सिटी लॉजिस्टिक सेन्टर बनाने के लिए आईआईएम से मदद लेने की बात कही गयी है। एलडीए उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बैठक के बाद इस सम्बंध में निर्देश जारी किया है।

सबको अलग अलग जिम्मेदारी

सेन्टर बनाने के साथ साथ यहां सुविधाएं विकसित करने की जिम्मेदारी अलग अलग विभागों को दी जा रही है। एलडीए और यूपीएसआईडीसी को प्रस्तावित सेन्टर के पास पार्किंग विकसित करने की जिम्मेदारी होगी। जबकि उद्योग विभाग लॉजिस्टिक को बढ़ावा देने का काम करेगा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ग्रीन लॉजिस्टिक, एनएचएआई व लोक निर्माण विभाग रोड तथा रेलवे, पुलिस विभाग, मेट्रो सहित अन्य विभाग यातायात से सम्बंधित काम करेंगे। तक जाने के लिए स्पेशल कारिडोर बनाया जाएगा।

एलडीए की सब कमेटी करेगी डाटा कलेक्शन

एलडीए की एक सब कमेटी डाटा कलेक्शन का काम करेगी। इसमें रेलवे, श्रम, उद्योग, एनएचएआई, लोक निर्माण विभाग, गिरी विकास संस्थान को सदस्य के तौर पर रखा गया है।

संबंधित खबरें