ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊबारिश से बेहाल यूपी: लखनऊ में बाढ़ जैसे हालात, घरों में घुसा पानी-VIDEO

बारिश से बेहाल यूपी: लखनऊ में बाढ़ जैसे हालात, घरों में घुसा पानी-VIDEO

उत्तर प्रदेश में कुछ दिन पहले शुरू हुई बारिश का सिलसिला अभी भी जारी है। रविवार से हो रही लगातार बारिश से लखनऊ में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। यूपी के लखनऊ, सीतापुर, बाराबंकी, गोंडा, कानपुर,...

1/ 6
2/ 6
3/ 6
4/ 6
5/ 6
6/ 6
Pratibhaलखनऊ, लाइव हिन्दुस्तान टीमMon, 30 Jul 2018 06:29 PM

उत्तर प्रदेश में कुछ दिन पहले शुरू हुई बारिश का सिलसिला अभी भी जारी है। रविवार से हो रही लगातार बारिश से लखनऊ में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। यूपी के लखनऊ, सीतापुर, बाराबंकी, गोंडा, कानपुर, सीतापुर समेत कई जिलों में भारी बारिश 

लखनऊ की मुख्य सड़कों पर एक-डेढ़ फ़ीट तक पानी लग गया है। सप्रु मार्ग, अशोक मार्ग, ला-प्लास और गोमती नगर में पानी जम गया है। घरों में पानी घुसने लगा है। जिससे वहां के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऑफिस आने-जाने वाले लोगों को दिक्कत हो रही है।

शहर के कई इलाकों जैसे इंदिरानगर, इस्माइलगंज, डालीगंज, गोमतीनगर, जानकीपुरम, आलमबाग, राजाजीपुरम, पानी गांव पुराने लखनऊ में जलभराव हो गया है। केके अस्पताल के सामने कमर तक पानी भर गया है और वहीं डालीगंज में गाड़ी पर बारिश की वजह से एक पेड़ गिर गया। अलीगंज बाल महिला चिकित्सालय में पानी भरने की वजह से हजारों रुपए की दवाई डूब गईँ। हॉस्पिटल के अंदर पानी भरने से डॉक्टरों को ओपीडी में बैठने में काफी मुश्किल हो रही है। वहीं महापौर आवास व उनके वार्ड में भी जलभराव हो गया है।

UP: सीएम योगी ने दिखाई आगरा-दिल्ली इलेक्ट्रिक बस को झंडी

गोंडा में घाघरा और सरयू नदियों में बाढ़-
मानसून से पहले बाढ़ से बचाव के सारे दावों पर पानी फेरते हुए घाघरा और सरयू नदियों ने सैलाब के सितम की शुरुआत कर दी है। रविवार रात से उफनाई दोनों नदियां बाढ़ का प्रकोप लेकर तीन दर्जन गांवों तक पहुंच गई है। बैराजो से लगातार पानी छोड़े छोड़े जाने और लगातार बारिश से नदियों ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। सोमवार सुबह करनैलगंज के एक दर्जन गांव बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन का भरोसा छोड़ते हुए पलायन शुरू कर दिया है। बताया जाता है करनैलगंज के नैपुरा, परसावल सहित चरपुरवा गांवों में पानी पहुंच गया है।घाघरा नदी का जलस्तर निरंतर बढ़ने व लगातार बरसात से अब बांध की तलहटी व निचले इलाकों में बसे गांवों में अफरा-तफरी मच चुकी है। बाराबंकी जिले के परसावल, नैपुरा व चरपुरवा गांवो में बाढ़ का पानी लोगों के घरों में घुस गया। जिससे इन गांवों के करीब पांच दर्जन परिवारों को बांध पर शरण लेनी पड़ी। तो वही परसावल ग्राम पंचायत के पासिन पुरवा व कहांरन पुरवा के करीब 200 परिवार नदी के टापू में फंस चुके है।

सरयू नदी ने भी तरेरी आंखे-
अयोध्या में सरयू भी खतरे के निशान को पार करते हुए मांझा के तरफ आंखे तरेरने लगी है।तटीय इलाके मे बसे गांव के लोग सरयू के विकराल हो रहे रूख से खौफजदा हो गये है। महेशपुर, दुर्गागंज, जैतपुर, तुलसीपुर, साकीपुर, दत्त नगर, गोकुला, इन्दरपुर के लोगों की नजरे उफना रही सरयू पर टिक गई है। भोर में अयोध्या के नये घाट पर स्थित केन्द्रीय जल आयोग द्वारा 92. 740 सेमी जलस्तर दर्ज किया गया जो खतरे के निशान से एक सेमी ऊपर का है।एसडीएम तरबगंज सौरभ भट्ट ने बताया की क्षेत्र की सभी बाढ राहत चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। लेखपालों को निरन्तर गांव मे बने रहने का निर्देश दिया गया है।

epaper