DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पतालों में मरीजों को बेहतर सेवाएं और सुरक्षा मिले

- पीएचएस की ओर से प्रशिक्षण कार्यक्रम में किया गया जागरुक लखनऊ। निज संवाददाता बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के साथ डॉक्टर और वहां के कर्मचारी मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार करें। मरीज उम्मीद के साथ हर जगह से परेशानी झेलकर अस्पताल आता है। ऐसे में उसे अस्पताल के प्रत्येक व्यक्ति से बहुत सी आशा होती है। वह चाहे ओपीडी, वार्ड या जांच सेंटर हो। यही नहीं अस्पतालों में गुणवत्तापरक इलाज, जांच और सुविधाएं मरीजों को देनी चाहिए। यह जानकारी शनिवार को आईएएसक्यूएम के निदेशक डॉ. अनिल कुमार श्रीवास्तव ने दी। मरीजों की सुरक्षा का ख्याल रखें वह गोमती नगर के एक होटल में प्रोपिटिअस हेल्थकेयर सॉल्यूशन्स (पीएचएस) की ओर से 'स्वास्थ्य देखभाल और गुणवत्ता' विषय पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में बोल रहे थे। इस मौके पर पीएचएस निदेशक डॉ. जैनब जैदी, सहारा के उपचिकित्सा अधीक्षक डॉ. जी. अब्बास जैदी, वरिष्ठ पैथालॉजिस्ट डॉ. पूनम सिंह व अन्य प्रमुख वक्ता मौजूद रहे। डॉ. पूनम और डॉ. जैदी ने संयुक्त रूप से अस्पताल, लैब की गुणवत्ता, मशीनों के स्टैंडर्ड पर विस्तार से विचार व्यक्त किए। नर्सिंग होम, निजी व सरकारी अस्पतालों में मरीजों की सुरक्षा, बेहतर सफाई व्यवस्था, अस्पताल के कचरे के निस्तारण पर प्रकाश डाला। डॉ. जैनब ने इमरजेंसी में आग लगने पर, किसी आपदा या कोई अप्रिय घटना पर मरीजों और अन्य लोगों से बेहतर तरीके से सामन्जस्य बनाने के बारे में बताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:health awarness program