DA Image
29 नवंबर, 2020|7:26|IST

अगली स्टोरी

चार दिन से नहीं मिला डग्गामार बस का कंडक्टर

- डग्गामार बस से वसूली करने वाले प्रोन्नत दरोगा को बचाने में जुटे अफसर - आईजी के आदेश के बाद बीत गए चार दिन, वसूली लेते वायरल हुआ था वीडियो लखनऊ। निज संवाददाता डग्गामार बस से वसूली के आरोपी प्रोन्नत दरोगा के वायरल हुए वीडियो मामले की आईजी के आदेश पर शुरू हुई जांच सुस्त है। चार दिन बाद भी जांच अधिकारी को पीड़ित बस का कंडक्टर नहीं मिल सका है। जबकि आरोपी दरोगा उसी चौराहे पर ड्यूटी कर रहा है। अधिकारी आरोपी दरोगा को बचाने के लिए जांच में देरी कर रहे हैं। 13 को जारी हुआ था वीडियो लोहिया चौराहे पर तैनात प्रोन्नत दरोगा (एचसीपी) का 13 अगस्त को एक वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि आरोपी एचसीपी को बीच मार्ग पर डग्गामार बस रोककर कंडक्टर लेन-देन कर रहा है। यह वीडियो मुख्यमंत्री, यूपी पुलिस, आईजी समेत अन्य अधिकारियों के ट्विटर पर गया। इसके बाद तुरंत ही उसी दिन आईजी सुजीत पांडेय ने तुरंत ही ट्वीट करके एएसपी ट्रैफिक को जल्द जांच करने के आदेश दिए। चार दिन से नहीं मिली बस जो डग्गामार बस रोजान अंबेडकर नगर से पॉलीटेक्निक चौराहे से लोहिया पथ होते हुए निकलती है। वह चार दिन से जांच कर रहे एएसपी ट्रैफिक को नहीं मिल रही है। इस मामले में एएसपी ट्रैफिक रविशंकर निम का कहना है कि जांच चल रही है, लेकिन अभी तक अंबेडकर नगर वाली बस नहीं मिली है, जिससे कंडक्टर से पूछताछ नहीं की जा सकी।