अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिंसक आवारा कुत्तों के नियंत्रण के लिए सरकार गम्भीर

प्रमुख संवाददाता - राज्य मुख्यालय

सीतापुर के खैराबाद में हुई घटना के बाद मुरादाबाद में आवारा कुत्तों के हिंसक होने व लोगों को काट खाने की घटनाओं को सरकार ने गम्भीरता से लिया है। नगर विकास विभाग की ओर से इस बारे में सभी जिला प्रशासन के साथ-साथ नगर निगम एवं नगर पालिका क्षेत्रों में आवारा कुत्तों को चिन्हित कर उन्हें पकड़ने का व्यापक अभियान चलाने एवं उनके बधियाकरण करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा प्रदेश स्तर पर निगरानी कमेटी बनाई गई है।

बनाई गई निगरानी कमेटी

इसके अलावा आवारा कुत्तों की संख्या में वृद्धि रोकने और कुत्तों द्वारा मानव पर हमल में कमी लाने के लिए कमेटी का गठन किया गया है। इसके अध्यक्ष प्रमुख सचिव नगर विकास होंगे। कमेटी में निदेशक पशुपालन, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, प्रमुख सचिव पंचायती राज, एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि, स्टेट एनिमल वेलफेयर बोर्ड के प्रतिनिधि सदस्य होंगे। इसके साथ ही इस दिशा में काम करने वालों को सदस्य बनाया गया है। निदेशक स्थानीय निकाय इसके सदस्य सचिव होंगे।

नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार की ओर से सीतापुर में आवारा हिंसक कुत्तों को पकड़ने के लिए एक टीम भी भेजी गई।

पशुपालन विभाग की टीम भी लगी

दूसरी तरफ पशुपालन विभाग की ओर से जिलों में टीमें गठित कर हिंसक आवारा कुत्तों को पकड़ने और उनका बधियाकरण करने का अभियान शुरु किया जा रहा है। विभाग की ओर से कुत्तों का एण्टीरैबीज टीकाकरण भी किया जा रहा है। जंगली कुत्तों की फिर से प्रभावित क्षेत्रों में आ जाने की आशंकाओं के मद्देनजर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं विशेषज्ञ डाक्टरों के नेतृत्व में बरेली स्थित इंडियन वेटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूस (आईवीआरआई) की टीम की ओर से हिंसक आवारा कुत्तों के रक्त एवं लार के नमूने जांच के लिए एकत्र किए जा रहे हैं ताकि कुत्तों के हिंसक होने की प्रवृत्ति की जांच की जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:govt.against agresive dogs in several parts of stetes