अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूथिका पाटणकर की रिपोर्ट को राष्ट्रपति ने सराहा : राम नाईक

प्रमुख संवाददाता-राज्य मुख्यालय

राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि प्रमुख सचिव के रूप में जुथिका पाटणकर ने जिस संवेदनशीलता और दायित्व बोध के साथ राजभवन में काम किया, वह सराहनीय है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि राजभवन के अनुभव और यादें उन्हें हमेशा आगे बढ़ने की प्रेरणा देती रहेंगी। वह केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर गई हैं।

वह गुरुवार को निवर्तमान प्रमुख सचिव जूथिका पाटणकर की विदाई एवं नए प्रमुख सचिव हेमंत राव के स्वागत में आयोजित समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि यूपी में सन 1947 से लेकर अब तक के 26 राज्यपालों के कार्यकाल में जूथिका पाटणकर प्रमुख सचिव के रूप में कार्य करने वाली प्रथम महिला अधिकारी हैं। उन्होंने तीन राज्यपालों के साथ काम किया है। अलग-अलग विचारों के राज्यपालों के साथ काम करना एक परीक्षा होती है। देश के किसी भी राजभवन में प्रमुख सचिव के पद पर काम करने वाली वह अकेली महिला अधिकारी हैं। जूथिका ने यूपी में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए देश के तीन राज्यों में जाकर वहां के विश्वविद्यालयों का अध्ययन किया और ‘विश्वविद्यालय प्रबंधनः राजभवन द्वारा अध्ययन विषय पर अपनी रिपोर्ट दी। यह रिपोर्ट मैंने राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को भेजी। इसकी प्रंशसा राष्ट्रपति व उप राष्ट्रपति ने लिखित रूप से भेजी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Governor appriciates IAS officer Juthika Patankar