DA Image
14 अगस्त, 2020|8:10|IST

अगली स्टोरी

राज्य में जनता को 24 घंटे बिजली देने के लिए सरकार प्रतिबद्ध : योगी

default image

लाइन लास कम करने की जरूरत : आर के सिंहराज्य मुख्यालय। विशेष संवाददाता। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार जनता को 24 घंटे बिजली देने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश में विद्युत उत्पाद, पारेषण व वितरण तीनों क्षेत्रों में किए गए सुधार का लाभ जनता को मिल रहा है। वहीं, केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर के सिंह ने यूपी में बिजली सुधारों की सराहना करते हुए कहा कि लाइन लास को 15 प्रतिशत से नीचे लाए जाने की जरूरत है। मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री ने यह बात गुरुवार को प्रदेश में बिजली सुधारों पर हुई बैठक में कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश में व्यापक स्तर पर विद्युतीकरण कराया गया है। साथ ही, अभियान चलाकर जनता को विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराये गये हैं। देश की आजादी के पश्चात आमजन को बिजली उपलब्ध कराने की दिशा में यह अब तक का सबसे बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घण्टे तक विद्युत आपूर्ति कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के ऊर्जा विभाग द्वारा विगत तीन वर्षो में बेहतर कार्य संस्कृति अपनाकर जनसामान्य को निर्बाध बिजली आपूर्ति का कार्य किया गया है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान भी ऊर्जा विभाग द्वारा प्रदेशवासियों को निरन्तर विद्युत आपूर्ति की गयी।वितरण इकाईयां इनर्जी एकाउंट बनाएं : आर के सिंह केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श आर0के0 सिंह ने कहा कि पूरे देश को एक ग्रिड में कनेक्ट किया गया है। विद्युत पारेषण व्यवस्था को सुदृढ़ किया गया है। वर्तमान में एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में एक लाख मेगावाॅट बिजली के पारेषण की क्षमता अर्जित कर ली गयी है। केन्द्र सरकार की नीति प्रत्येक घर को 24 घण्टे बिजली उपलब्ध कराने की है। उन्होंने कहा कि हानियों को कम करने के लिए स्मार्ट और प्रीपेड मीटर लगाये जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि वितरण इकाइयों को इनर्जी एकाउण्ट बनाने चाहिए। इसके लिए सभी वितरण इकाइयांे में किसी वरिष्ठ अधिकारी के नियंत्रण में इनर्जी एकाउण्ट डिवीजन बनाया जाए तथा सर्किल एवं डिवीजन के अनुसार इनर्जी एकाउण्ट पब्लिश किया जाना चाहिए। उन्होंने सभी ट्रांसफार्मर की मीटरिंग की व्यवस्था बनाने पर बल दिया। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बिजली सुधार के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी और कहा कि डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर के लिए 2400 करोड़ रुपये की जरूरत है। उन्होंने सौभाग्य योजना में अवशेष धनराशि की भी अपेक्षा जताई। यूपी में विद्युत आपूर्ति बेहतर हुई : मृत्युंजय नारायण बैठक में केन्द्रीय संयुक्त सचिव ऊर्जा मृत्युंजय कुमार नारायण ने कहा कि यूपी सरकार द्वारा विगत तीन वर्षाें में 1.21 लाख मजरों का विद्युतीकरण कराया गया है। साथ ही, 1.24 करोड़ विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराये गये हैं। राज्य में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था बेहतर हुई है। स्मार्ट मीटर की स्थापना में उत्तर प्रदेश अग्रणी है। राज्य में 40 लाख स्मार्ट मीटर स्थापित किये जाने हैं। इसमें से 10.3 लाख स्मार्ट मीटर लगाये जा चुके हैं। राज्य में 423 नये सबस्टेशन भी स्थापित किये गये हैं। अपर मुख्य सचिव ऊर्जा अरविन्द कुमार ने छापों और वसूली की प्रभावी निगरानी के लिए आॅनलाइन आर0एम0एस0 पोर्टल स्थापित किया गया है। शत-प्रतिशत डाउनलोडेड बिलिंग सुनिश्चित करने के लिए बिलिंग एजेन्सीज नियुक्त की गयी हैं। इस अवसर पर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा, ऊर्जा राज्य मंत्री रमा शंकर सिंह पटेल, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, केन्द्रीय ऊर्जा सचिव संजीव नन्दन सहाय, केन्द्रीय अपर सचिव ऊर्जा संजय मल्होत्रा अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Government committed to provide 24-hour electricity to the public in the state Yogi