DA Image
24 अक्तूबर, 2020|11:19|IST

अगली स्टोरी

प्रदेश में प्लाज़्मा थेरेपी के अच्छे परिणाम, जारी रहेगी

default image

विशेष संवाददाता - राज्य मुख्यालय

प्रदेश में कोरोना मरीजों पर की जा रही प्लाज़्मा थेरेपी के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। नतीजतन, प्रदेश सरकार ने इसे आगे भी जारी रखने का फैसला किया है। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा विभाग ने यह फैसला प्रदेश में चल रही प्लाज़्मा थेरेपी के नतीजों का प्रदेश स्तर पर आकलन करने के बाद किया है। प्रदेश के नौ सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों में की गई 622 प्लाज़्मा थेरेपी में से 462 मरीज स्वस्थ हुए हैं यानी स्वस्थ होने की 74 फीसदी रही है।

प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने मेडिकल कालेजों व निजी संस्थानों में प्लाज़्मा थेरेपी के जरिये मरीजों के उपचार की प्रक्रिया शुरू कराई। शुरुआती दौर में आईसीएमआर ने लखनऊ के केजीएमयू में प्लाज़्मा थेरेपी की अनुमति दी है। मौजूदा समय में केजीएमयू, एसएसपीएच नोएडा, गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कालेज कानपुर, पीजीआई लखनऊ, एसएन मेडिकल कालेज आगरा, यूपीयूएमएस सैफई इटावा में प्लाज़्मा थेरेपी की जा रही है।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डा. रजनीश दुबे ने बताया कि आसीएमआर ने कुछ शर्तों के साथ इसकी अनुमति दी है। इसके प्रदेश में अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं, लिहाजा इसे आगे भी जारी रखा जाएगा। वर्ल्ड ब्लड डोनेशन डे के मौके पर प्रदेश भर में की गई प्लाज़्मा थेरेपी का अध्ययन किया गया। पाया गया कि केजीएमयू में ही सफलता का प्रतिशत करीब 64 फीसदी रहा है। इसी तरह पीजीआई लखनऊ में 58 मरीजों पर प्लाज़्मा थेरेपी की गई। इसमें से 49 मरीज स्वस्थ हुए यानी थेरेपी में सफलता का प्रतिशत करीब 85 फीसदी रहा है।

चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक ग्रेटर नोएडा इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस में कुल 196 मरीजों पर इस थेरेपी का प्रयोग किया गया। वहां सफलता का प्रतिशत 89 रहा। डा. रजनीश दुबे के मुताबिक झांसी मेडिकल कालेज में कुल 48 मरीजों की थेरेपी की गई। इसमें से 32 मरीज़ों का लाभ हुआ। इसी तरह कुछ निजी चिकित्सा संस्थानों ने भी प्लाज़्मा थेरेपी की। इसमें शारदा अस्पताल में 91 मरीजों में से 80 मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार हुआ। इसी तरह मुरादाबाद स्थित तीर्थंकर महावीर मेडिकल कालेज में 7 मरीजों की प्लाज़्मा थेरेपी की गई। इसमें से छह मरीज स्वस्थ हो गए यानी प्लाज़्मा थेरेपी से स्वस्थ होने का प्रतिशत 85 रहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Good results of plasma therapy in the state will continue