अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विलुप्त नदियों के पुनर्जीवन के अभियान की शुरूआत 10 मार्च को पीलीभीत गोमती नदी से

प्रमुख संवाददाता / राज्य मुख्यालय। विलुप्त नदियों को पुनर्जीवित करने व उनके संरक्षण, संवर्धन अनुरक्षण के प्रदेश सरकार के अभियान की शुरूआत पीलीभीत से निकलने वाली गोमती नदी से हो रही है। इसके तहत पीलीभीत के गांधी प्रेक्षागृह में 10 मार्च को जनजागरण अभियान कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इसमें संतों,सांसदों, विधायकों पंचायत प्रतिनिधियों व स्वयंसेवी संस्थाओं को आमंत्रित किया गया है। समारोह में सामाजिक संस्था लोकभारती के संगठन सचिव बृजेन्द्र पाल सिंह व जलपुरुष राजेन्द्र सिंह को भी आमंत्रित किया गया है। ये जानकारी देते हुए सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि पुरातन नदियों को सदानीरा बनाने के लिए चरणबद्व कार्य योजना तैयार की गई है। इसके तहत प्रथम चरण में पीलीभीत/लखनऊ की गोमती, अयोध्या की पौराणिक तमसा नदी, प्रतापगढ़ की सई, वाराणसी की वरूणा, बरेली की अरिल तथा बदायूं की सोत नदियों को अविरल और निर्मल बनाने के लिए जन-जन के सहयोग से विशाल जन आन्दोलन चलाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: gomti river